प्रधानमंत्री विरासत का संवर्धन योजना

प्रधानमंत्री विरासत का संवर्धन योजना

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने प्रधानमंत्री विरासत का संवर्धन (Pradhan Mantri Virasat Ka Samvardhan: PM VIKAS) योजना को मंजूरी प्रदान की है ।

  • पीएम विकास, अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की योजना है। यह योजना अल्पसंख्यकों के सामाजिक-आर्थिक-शैक्षिक सशक्तीकरण पर केंद्रित है। इसके तहत कारीगर समुदायों, महिलाओं और युवाओं पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।
  • इस योजना के कुल लक्ष्यों में से कम से कम 33% महिलाओं के लिए निर्धारित किए गए हैं। इस योजना के घटकों में से एक का उद्देश्य विशेष रूप से महिलाओं को उद्यमिता और नेतृत्व संबंधी सहायता प्रदान करना है।
  • इसके तहत इच्छुक महिला उद्यमियों को उद्यमिता विकास के लिए गहन प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।
  • उद्यमियों के रूप में प्रशिक्षित इन महिलाओं में से 10% को उनके नेतृत्व गुणों के आधार पर बिजनेस मेंटर के रूप में भी चुना जाएगा।

अल्पसंख्यकों के लिए कौशल विकास और रोजगार से संबंधित अन्य कार्यक्रम

  • नई मंजिलः इसके तहत औपचारिक शिक्षा (कक्षा आठवीं या दसवी) और कौशल प्रदान किया जाता है। इसका उद्देश्य लाभार्थियों को बेहतर रोजगार एवं आजीविका प्राप्त करने में सक्षम बनाना है।
  • नई रोशनी योजनाः इसका उद्देश्य अल्पसंख्यक महिलाओं को सशक्त बनाना और उनमें विश्वास को बढ़ाना है। इसके तहत महिलाओं में नेतृत्व के विकास के लिए ज्ञान, साधन और तकनीक प्रदान की जाती है।
  • विकास के लिए पारंपरिक कलाओं/शिल्पों में कौशलों का उन्नयन एवं प्रशिक्षण अर्थात उस्ताद (Upgrading the skill and Training In Traditional Arts/ Crafts for Development USTTAD) योजना को भी आरंभ किया गया है।
  • गरीब नवाज स्वरोजगार योजनाः इसके तहत अल्पसंख्यक वर्ग के युवाओं हेतु अल्पकालिक रोजगार उन्मुख कौशल विकास पाठ्यक्रम का उपबंध किया गया है। इससे उन्हें कौशल आधारित रोजगार के लिए सक्षम बनाया जाएगा।
  • बैकअप टू ब्रिलिएंस नीति अपनायी गयी है।
  • प्रधान मंत्री जन विकास कार्यक्रम का देश भर में विस्तार किया गया है।
  • हुनर हाट को आयोजित किया जाता है।
  • “सीखो और कमाओ” योजना को आरंभ किया गया है ।

स्रोत –द हिन्दू

Download Our App

MORE CURRENT AFFAIRS

Share with Your Friends

Join Our Whatsapp Group For Daily, Weekly, Monthly Current Affairs Compilations

Related Articles

Youth Destination Facilities