Reading Time: 7 minutes

Online UPSC Coaching in Hindi

UPSC Online Coaching for 2021 Hindi Medium

We always believed in providing a qualitative yet quantitative solution to UPSC aspirants. on the behalf of our last year’s experience, we are going to start GS Foundation Course for UPSC (CSE) 2021 which is in tune with the dynamic nature of this examination as well as the expectations of UPSC.

About the Hindi Medium Online Foundation Batch 2021

  • सिविल सेवा के अपने सपने को आगे बढ़ाने के लिए, youth destination IAS के द्वारा नए ऑनलाइन फाउंडेशन बैच को लॉन्च कर दिया गया हैं। COVID-19 महामारी और लॉकडाउन की वर्तमान स्थिति के कारण, हम IAS उम्मीदवारों के लिए अपने प्रयासों को विशेष रूप से ऑनलाइन लाइव और इंटरेक्टिव कक्षाओं के माध्यम से जारी रखना चाहते हैं।
  • इस कार्यक्रम के पीछे हमारा उद्देश्य उन छात्रों को समायोजित करना हैं जो मौजूदा स्थिति में किसी भी कक्षा के पाठ्यक्रमों तक पहुंचने में असमर्थ हैं। अतःवर्तमान समय को देखते हुए ऑनलाइन कक्षाओं को  मॉड्यूल और upsc के पाठ्यक्रम को इस तरह से डिज़ाइन किया गया है कि निश्चित समय में पूरे पाठ्यक्रम को पूरा किया जा सके ।
  • ऑनलाइन पाठ्यक्रम लाइव और इंटरैक्टिव है, इसलिए छात्र अपने संदेह को क्लास के बीच में ही पूछ सकते हैं।

इतिहास (प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा )

Play Video

शशांक पाठक सर (इतिहास)

इस कार्यक्रम के पीछे हमारा उद्देश्य उन छात्रों को समायोजित करना हैं जो मौजूदा स्थिति में किसी भी कक्षा के पाठ्यक्रमों तक पहुंचने में असमर्थ हैं। अतःवर्तमान समय को देखते हुए ऑनलाइन कक्षाओं को  मॉड्यूल और upsc के पाठ्यक्रम को इस तरह से डिज़ाइन किया गया है कि निश्चित समय में पूरे पाठ्यक्रम को पूरा किया जा सके ।

इस कार्यक्रम में सम्पूर्ण इतिहास को प्रारभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा दोनों के लिए तैयार किया गया हैं 

कुल समयावधि – 170 घंटे 

आध्यापक – शशांक पाठक सर 

  • प्राचीन भारत का इतिहास  (30 घंटे)
  • मध्यकालीन भारत का इतिहास  (20 घंटे)
  • आधुनिक भारत का इतिहास  (50 घंटे)
  • स्वतंत्रता के बाद भारत का इतिहास (10 घंटे)
  • विश्व इतिहास (30 घंटे)
  • भारतीय कला एवं  संस्कृति (30 घंटे)
  • सम्पूर्ण कक्षा कार्यक्रम को इस प्रकार बनाया गया हैं कि संचालित कक्षा और टेस्ट सीरीज के पाठ्यक्रम के अनुसार प्रतिदिन  2 प्रश्न मुख्य परीक्षा के और 5 प्रश्न प्रारंभिक के दिए जायेगे 
  • जिससे आपके संपूर्ण पाठ्यक्रम को 3-4  रिवीजन असानी से संभव होगा  
  • इस फाउंडेशन बैच में कुल 36 टेस्ट प्रारंभिक परीक्षा के और 32 टेस्ट मुख्य परीक्षा के हैं |
  • जिसमे इतिहास के लिए 6 टेस्ट प्रारंभिक परीक्षा के और 4 टेस्ट मुख्य परीक्षा के हैं |
  • कला और संस्कृति के लिए भी 2 टेस्ट निर्धारित किया गया हैं 

भूगोल ( विश्व और भारत का भूगोल)

  • पृथ्वी के ऊपरी स्वरुप और उसके प्राकृतिक विभागों (जैसे पहाड़, महादेश, देश, नगर, नदी, समुद्र, झील, डमरुमध्य, उपत्यका, अधित्यका, वन आदि) का ज्ञान हमें भूगोल के द्वारा मिलता हैं 

इस कार्यक्रम में सम्पूर्ण भूगोल  को प्रारभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा दोनों के लिए तैयार किया गया हैं  

कुल समयावधि – 100 घंटे 

आध्यापक – अजीत कुमार  सर 

भौतिकी भूगोल

  1. भू-आकृति विज्ञान
  2. जलवायुविज्ञान
  3. समुद्र शास्त्र
  4. जल संसाधन
  5. बायोग्राफी

मानवीय भूगोल

  1. जनसँख्या
  2. शहरीकरण
  3. जनगणना

आर्थिक भूगोल

  1. कृषि
  2. खनिज संसाधन
  3. ऊर्जा संसाधन
  4. उद्योग

भारत का भूगोल 

 

  • भूगोल के सम्पूर्ण कक्षा कार्यक्रम को इस प्रकार बनाया गया हैं कि संचालित कक्षा और टेस्ट सीरीज के पाठ्यक्रम के अनुसार प्रतिदिन  2 प्रश्न मुख्य परीक्षा के और 5 प्रश्न प्रारंभिक के दिए जायेगे 
  • जिससे आपके संपूर्ण पाठ्यक्रम को 3-4  रिवीजन असानी से संभव होगा  
  • इस फाउंडेशन बैच में कुल 36 टेस्ट प्रारंभिक परीक्षा के और 32 टेस्ट मुख्य परीक्षा के हैं |
  • जिसमे भूगोल  के लिए 4 टेस्ट प्रारंभिक परीक्षा के और 4 टेस्ट मुख्य परीक्षा के हैं |

अजीत कुमार (भूगोल )

भारतीय राजव्यवस्था

अनिल श्रीवास्तव सर (भारतीय राजव्यवस्था)

  • भारत की राजनीति (Indian Politics) संविधान के ढाँचे में काम करती हैं। जहाँ पर राष्ट्रपति देश का प्रमुख होता हैं और प्रधानमंत्री सरकार का प्रमुख होता हैं

  • भारत एक संघीय संसदीय, लोकतांत्रिक गणतंत्र हैं, भारत एक द्वि-राजतन्त्र का अनुसरण करता हैं, अर्थात, केन्द्र में एक केन्द्रीय सत्ता वाली सरकार और परिधि में राज्य सरकारें।

इस कार्यक्रम में सम्पूर्ण भारतीय संविधान  को प्रारभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा दोनों के लिए तैयार किया गया हैं  

कुल समयावधि – 120 घंटे 

आध्यापक – अनिल श्रीवास्तव  सर 

  1. ऐतिहासिक विकास और विशेषताएं
  2. प्रस्तावना
  3. नागरिकता
  4. मौलिक अधिकार
  5. राज्य के नीति निर्देशक सिद्धांत
  6. मौलिक कर्तव्य
  7. अन्य सिद्धांत
  8. शक्तियों का पृथक्करण
  9. दूसरे देशों के साथ भारतीय संवैधानिक योजना की तुलना
  10. संघ और राज्य
  11. संघ और राज्य के कार्य और जिम्मेदारियाँ
  12. मुद्दों और चुनौतियों से संबंधित संघीय संरचना
  13. राष्ट्रपति
  14. उपराष्ट्रपति
  15. प्रधान मंत्री
  16. मंत्रिपरिषद
  17. भारत के महान्यायवादी
  18. संसद
  19. संघ न्यायपालिका
  20. सरकार के मंत्रालय और विभाग
  21. पंचायतें
  22. निवारण तंत्र और संस्थाओं को विवादित करना
  23. भारत के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक
  24. राज्यपाल
  25. मुख्यमंत्री
  26. राज्य के लिए एडवोकेट-जनरल
  27. राज्य की विधायिका
  • भारतीय संविधान के सम्पूर्ण कक्षा कार्यक्रम को इस प्रकार बनाया गया हैं कि संचालित कक्षा और टेस्ट सीरीज के पाठ्यक्रम के अनुसार प्रतिदिन  2 प्रश्न मुख्य परीक्षा के और 5 प्रश्न प्रारंभिक के दिए जायेगे 
  • जिससे आपके संपूर्ण पाठ्यक्रम को 3-4  रिवीजन असानी से संभव होगा  
  • इस फाउंडेशन बैच में कुल 36 टेस्ट प्रारंभिक परीक्षा के और 32 टेस्ट मुख्य परीक्षा के हैं |
  • जिसमे भारतीय संविधान  के लिए 6 टेस्ट प्रारंभिक परीक्षा के और 4 टेस्ट मुख्य परीक्षा के हैं |

भारतीय अर्थव्यवस्था

  • विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था  के रूप में भारत की अर्थव्यवस्था  इस परीक्षा के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं
  • क्षेत्रफल की दृष्टि से भी भारत विश्व में सातवें स्थान पर है, जनसंख्या में इसका दूसरा स्थान है और केवल 2.4% क्षेत्रफल के साथ भारत विश्व की जनसंख्या के 17% भाग को शरण प्रदान करता है।

इस कार्यक्रम में सम्पूर्ण भूगोल  को प्रारभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा दोनों के लिए तैयार किया गया हैं  

कुल समयावधि – 120 घंटे 

आध्यापक – आर. कुमार  सर 

  • भारतीय अर्थव्यवस्था और योजना से संबंधित मुद्दे
  • संसाधन जुटाना
  • समावेशी विकास और इस से उत्पन्न होने वाले मुद्दे
  • सरकारी बजट
  • निवेश मॉडल
  • राजकोषीय नीति
  • कराधान
  • भारत में मौद्रिक नीति
  • बैंकिंग
  • विदेशी व्यापार और अंतर्राष्ट्रीय संगठन
  • कृषि
  • उद्योग
  • वहन 
  • बजट 
  • आर्थिक समीक्षा 
  • भारत की अर्थव्यवस्था के सम्पूर्ण कक्षा कार्यक्रम को इस प्रकार बनाया गया हैं कि संचालित कक्षा और टेस्ट सीरीज के पाठ्यक्रम के अनुसार प्रतिदिन  2 प्रश्न मुख्य परीक्षा के और 5 प्रश्न प्रारंभिक के दिए जायेगे 
  • जिससे आपके संपूर्ण पाठ्यक्रम को 3-4  रिवीजन असानी से संभव होगा  
  • इस फाउंडेशन बैच में कुल 36 टेस्ट प्रारंभिक परीक्षा के और 32 टेस्ट मुख्य परीक्षा के हैं |
  • जिसमे भारत की अर्थव्यवस्था के लिए 4 टेस्ट प्रारंभिक परीक्षा के और 4 टेस्ट मुख्य परीक्षा के हैं |

आर. कुमार सर (भारतीय अर्थव्यवस्था)

भारतीय समाज

गौतन आनंद सर (भारतीय समाज )

पर्यावरण और पारिस्थितिकी हमारे पर्यावरण को के बारे में जानकारी प्रदान करने वाला विज्ञानं हैं। और वर्तमान समय में सभी प्रकार की प्रतियोगी परीक्षाओं में इससे संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। upsc की परीक्षा में भी पर्यावरण और पारिस्थितिकी से प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा दोनों में प्रश्न पूछे जाते हैं

इस कार्यक्रम में सम्पूर्ण भारतीय समाज  को प्रारभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा दोनों के लिए तैयार किया गया हैं  

कुल समयावधि – 25 घंटे 

आध्यापक – गौतन आनंद सर (भारतीय समाज )

पाठ्यक्रम

  • भारतीय समाज की प्रमुख विशेषताएं
  • भारत की विविधता
  • महिला संगठनों की भूमिका
  • गरीबी और विकास के मुद्दे
  • भारतीय समाज पर वैश्वीकरण के प्रभाव
  • सामाजिक सशक्तीकरण
  • साम्प्रदायिकता
  • धर्मनिरपेक्षता
  • क्षेत्रवाद
  • भारतीय समाज के सम्पूर्ण कक्षा कार्यक्रम को इस प्रकार बनाया गया हैं कि संचालित कक्षा और टेस्ट सीरीज के पाठ्यक्रम के अनुसार प्रतिदिन  2 प्रश्न मुख्य परीक्षा के और 5 प्रश्न प्रारंभिक के दिए जायेगे 
  • जिससे आपके संपूर्ण पाठ्यक्रम को 3-4  रिवीजन असानी से संभव होगा  
  • भारतीय समाज upsc की मुख्य परीक्षा  के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं और प्रति वर्ष मुख्य परीक्षा में कम से कम 40 -60 अंक के प्रश्न इसी से पूछे जाते हैं ?
  • इसके लिए मुख्य परीक्षा की 3 पेपर का निर्धारण किया गया हैं  

अन्तरराष्ट्रीय सम्बन्ध

  • विभिन्न देशों के बीच संबंधों साथ ही सम्प्रभु राज्यों, अंतर-सरकारी संगठनों (IGOs), अंतरराष्ट्रीय गैर सरकारी संगठनों (INGOs), गैर-सरकारी संगठनों (NGOs) और बहुराष्ट्रीय कंपनियों (MNCs) आदि की भूमिका और उसके महत्व का  अध्ययन अंतरराष्ट्रीय संबंध (IR) के तहत किया गया हैं 

इस कार्यक्रम में सम्पूर्ण अन्तरराष्ट्रीय सम्बन्ध  को प्रारभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा दोनों के लिए तैयार किया गया हैं  

कुल समयावधि – 40 घंटे 

आध्यापक – गौतम आनंद  सर 

पाठ्यक्रम

भारत और पड़ोसी

  • भारत – नेपाल संबंध
  • भारत और भूटान
  • भारत-अफगान द्विपक्षीय संबंध
  • भारत-बांग्लादेश संबंध
  • भारत-मालदीव संबंध
  • भारत-श्रीलंका संबंध
  • भारत-म्यांमार संबंध
  • भारत-पाक संबंध
  • भारत चीन सम्बन्ध 
  • दक्षिण चीन सागर विवाद
  • हिंद महासागर क्षेत्र में सुरक्षा चुनौतियां
  • भारत और एशियाई राष्ट्रों के संबंध

मध्य एशिया के सीआईएस देश

  • भारत-मंगोलिया
  • भारत – यूएई संबंध
  • भारत – इरान
  • भारत – इजरायल
  • भारत – सऊदी अरब
  • एशिया- प्रशांत क्षेत्र
  • भारत-दक्षिण पूर्व एशिया
  • भारत-जापान द्विपक्षीय संबंध
  • भारत – दक्षिण कोरिया
  • भारत-वियतनाम

भारत और एशियाई राष्ट्रों के संबंध

भारतीय प्रवासी

भारत और अन्य राष्ट्र और संस्थान

  • भारत और अफ्रीका
  • भारत-ऑस्ट्रेलिया संबंध
  • फ्रांस
  • सयुक्त संघ
  • भारत-यूएसए संबंध
  • विश्व व्यापार संगठन
  • अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष
  • परमाणु सुरक्षा शिखर सम्मेलन
  • BRICS
  • बिम्सटेक
  • IBSA
  • सार्क
  • वर्तमान भारत की गैर-संरेखण प्रासंगिकता
  • भारत-आसियान आर्थिक सहयोग
  •  
  • अन्तरराष्ट्रीय सम्बन्ध के सम्पूर्ण कक्षा कार्यक्रम को इस प्रकार बनाया गया हैं कि संचालित कक्षा और टेस्ट सीरीज के पाठ्यक्रम के अनुसार प्रतिदिन  2 प्रश्न मुख्य परीक्षा के और 5 प्रश्न प्रारंभिक के दिए जायेगे 
  • जिससे आपके संपूर्ण पाठ्यक्रम को 3-4  रिवीजन असानी से संभव होगा  
  • इस फाउंडेशन बैच में कुल 36 टेस्ट प्रारंभिक परीक्षा के और 32 टेस्ट मुख्य परीक्षा के हैं |
  • जिसमे अन्तरराष्ट्रीय सम्बन्ध  के लिए 4 टेस्ट  मुख्य परीक्षा के लिए निर्धारित किया गया  हैं |

गौतन आनंद सर (अन्तरराष्ट्रीय सम्बन्ध )

विज्ञान और प्रौद्योगिकी

डॉ.रवि अग्रहरि (विज्ञान और प्रौद्योगिकी)

  • किसी भी प्राकृतिक घटना को स्पष्ट करने और उसके अवलोकन और प्रयोग को समझने की सम्पूर्ण प्रक्रिया को जिसके माध्यम से किया जाता है उसे विज्ञानं कहा जाता हैं  जबकि प्रौद्योगिकी तकनीक, कौशल, प्रक्रियाओं, डिजाइन, उत्पादों आदि का एक संयोजन है

इस कार्यक्रम में सम्पूर्ण विज्ञान और प्रौद्योगिकी  को प्रारभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा दोनों के लिए तैयार किया गया हैं  

कुल समयावधि – 80 घंटे 

आध्यापक – डॉ.रवि अग्रहरि

पाठ्यक्रम

भौतिकी विज्ञान

रसायन विज्ञान

जीव विज्ञान 

विज्ञान और प्रौद्योगिकी

  • जैव प्रौद्योगिकी
  • अंतरिक्ष
  • रक्षा
  • परमाणु ऊर्जा
  • आईटी, इलेक्ट्रॉनिक्स और दूरसंचार
  • आईटी और दूरसंचार में वर्तमान विकास
  • नैनो-विज्ञान और नैनो प्रौद्योगिकियों
  • रोबोटिक्स
  • विज्ञान और प्रौद्योगिकी के सम्पूर्ण कक्षा कार्यक्रम को इस प्रकार बनाया गया हैं कि संचालित कक्षा और टेस्ट सीरीज के पाठ्यक्रम के अनुसार प्रतिदिन  2 प्रश्न मुख्य परीक्षा के और 5 प्रश्न प्रारंभिक के दिए जायेगे 
  • जिससे आपके संपूर्ण पाठ्यक्रम को 3-4  रिवीजन असानी से संभव होगा  
  • इस फाउंडेशन बैच में कुल 36 टेस्ट प्रारंभिक परीक्षा के और 32 टेस्ट मुख्य परीक्षा के हैं |
  • जिसमे विज्ञान और प्रौद्योगिकी  के लिए 2 टेस्ट  मुख्य परीक्षा के लिए निर्धारित किया गया  हैं | तथा प्रारंभिक परीक्षा के लिए 3 टेस्ट है जिसमे 1 टेस्ट सामान्य विज्ञानं और 2 विज्ञान और प्रौद्योगिकी  के लिए  हैं 

पर्यावरण और पारिस्थितिकी

पर्यावरण और पारिस्थितिकी हमारे पर्यावरण को के बारे में जानकारी प्रदान करने वाला विज्ञानं हैं। और वर्तमान समय में सभी प्रकार की प्रतियोगी परीक्षाओं में इससे संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। upsc की परीक्षा में भी पर्यावरण और पारिस्थितिकी से प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा दोनों में प्रश्न पूछे जाते हैं

इस कार्यक्रम में सम्पूर्ण पर्यावरण और पारिस्थितिकी को प्रारभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा दोनों के लिए तैयार किया गया हैं  

कुल समयावधि – 45 घंटे 

आध्यापक – सिद्दार्थ मित्तल सर

पाठ्यकम 

  • पारिस्थितिकी
  • पर्यावरण एवं सतत विकास
  • ओजोन परत क्षरण
  • जैव विविधता
  • ग्रीन हॉउस इफैक्ट और जलवायु परिवर्तन
  • वन और वन्य जीव
  • अभ्यारण्य / जैव मण्डल रिजर्व
  • वैकल्पिक ऊर्जा
  • प्रदूषण
  • जल संरक्षण
  • विविध
  • पर्यावरण और पारिस्थितिकी के सम्पूर्ण कक्षा कार्यक्रम को इस प्रकार बनाया गया हैं कि संचालित कक्षा और टेस्ट सीरीज के पाठ्यक्रम के अनुसार प्रतिदिन  2 प्रश्न मुख्य परीक्षा के और 5 प्रश्न प्रारंभिक के दिए जायेगे 
  • जिससे आपके संपूर्ण पाठ्यक्रम को 3-4  रिवीजन असानी से संभव होगा  
  • इस फाउंडेशन बैच में कुल 36 टेस्ट प्रारंभिक परीक्षा के और 32 टेस्ट मुख्य परीक्षा के हैं |
  • जिसमे पर्यावरण और पारिस्थितिकी के लिए 4 टेस्ट प्रारंभिक परीक्षा के और 4 टेस्ट मुख्य परीक्षा के हैं |

सिद्दार्थ मित्तल सर (पर्यावरण और पारिस्थितिकी)