दक्षिणी अफ्रीका के साथ भारत के आर्थिक संबंध

दक्षिणी अफ्रीका के साथ भारत के आर्थिक संबंध

हाल ही में दक्षिणी अफ्रीका के साथ भारत की आर्थिक संलग्नता को फिर से मजबूत किया जा रहा है।

भारतीय आयात-निर्यात बैंक (एक्ज़िम बैंक) ने एक कार्य-पत्र जारी किया है। इसमें भारत और दक्षिण अफ्रीकी विकास समुदाय (SADC) देशों के बीच रणनीतिक गठबंधन की आवश्यकता पर बल दिया गया है।

  • SADC को वर्ष 1980 में स्थापित किया गया था। इस समूह में 16 देश शामिल हैं। ये सभी देश अफ्रीका के कुल भू-क्षेत्र में 4 प्रतिशत, इसके समग्र सकल घरेलू उत्पाद में 28.4 प्रतिशत और जनसंख्या में 28.2 प्रतिशत की हिस्सेदारी रखते हैं ।
  • SADC और भारत आपस में मजबूत और गहन संबंध साझा करते है। दोनों के मध्य वर्ष 2021 में 8 बिलियन अमेरिकी डॉलर का कुल व्यापार हुआ था। इसके अतिरिक्त, पिछले 26 वर्षों में SADC में भारत से 69.9 बिलियन अमेरिकी डॉलर का निवेश किया गया है।
  • इस तरह, SADC भारत के लिए एक महत्वपूर्ण व्यापार भागीदार है।

India economic relations with South Africa

SADC के साथ भारत की संलग्नता को मजबूत करने की रणनीतियां

  • दुर्लभ मृदा तत्व (REE) : SADC क्षेत्र लिथियम, ग्रेफाइट, कोबाल्ट, निकल, तांबा और अन्य REE में समृद्ध है।
  • समुद्री और रक्षा सहयोग : SADC देश भारत के लिए प्रमुख रक्षा निर्यात गंतव्य हैं। इसमें हिंद महासागर के तट पर स्थित 9 अफ्रीकी देश (IOLC) भी शामिल हैं।
  • दोनों पक्ष सागर/ SAGAR पहल (क्षेत्र में सभी के लिए सुरक्षा और विकास) के सहयोगात्मक ढांचे के आधार पर एक भय-रहित तथा सुरक्षित समुद्री परिवेश सुनिश्चित करने पर काम कर सकते हैं।
  • विनिर्माण क्षेत्र में भारतीय कंपनियों के माध्यम से प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) बढ़ाकर SADC में विनिर्माण मूल्य श्रृंखला का विकास किया जा सकता है।
  • इलेक्ट्रिक वाहन मूल्य श्रृंखला के लिए संयुक्त अन्वेषण गतिविधियों के माध्यम से अन्य महत्वपूर्ण खनिज संसाधनों की व्यवस्था हेतु रणनीतिक गठबंधन बनाया जाना चाहिए ।

स्रोत – द हिन्दू

Download Our App

More Current Affairs

Share with Your Friends

Join Our Whatsapp Group For Daily, Weekly, Monthly Current Affairs Compilations

Related Articles

Youth Destination Facilities