भारतीय समाज मुद्दे और सामाजिक मुद्दे (हिंदी में)

300.00

Want to Check Some Demo Pages of

भारतीय समाज मुद्दे और सामाजिक मुद्दे (हिंदी में)

Check some Demo pages & Content or decide Whether you want to purchase a book or not

Check Demo book

Check our Content And Some Demo Pages from Books

भारतीय समाज मुद्दे और सामाजिक मुद्दे (हिंदी में) Indian Society & Social issue for UPSC in Hindi

प्रस्तुत पुस्तक में भारतीय समाज के मुद्दे एवं समस्याओं का आलोचनात्मक दृष्टि से विवेचन किया गया है। भारतीय समकालीन समाज में अनेक समस्याएं पाई जाती है तथा उन्हें हल करने के प्रयत्न भी यत्र तत्र चलते रहते हैं। परंतु यह सामाजिक मुद्दे कितने सुलझे है, यह एक प्रश्न ज्वलंत प्रश्न है। जब तक हम किसी समस्या को गहराई से नहीं समझेंगे, उस समस्या को उसके परिप्रेक्ष्य में नहीं समझेंगे अथवा उसके कारणों का पता नहीं लगाएंगे तो उसका समाधान संभव नहीं है।

एकाकी दृष्टिकोण भी किसी समस्या का उपयुक्त समाधान नहीं है प्रस्तुत पुस्तक भारतीय समाज और सामाजिक मुद्दे अथवा indian society & social issue for upsc in hindi में सामाजिक समस्याओं के कारकों का पता लगाने तथा उनका उपयोग करके समस्या को सुलझाने का प्रयास किया है।

भारतीय समाज और सामाजिक मुद्दे अथवा Indian society & social issue for UPSC in Hindi पुस्तक को सभी पूर्वाग्रहों से मुक्त रखते हुए वैज्ञानिक दृष्टिकोण अपनाया गया है तथा सामाजिक समस्याओं के क्षेत्र में किए गए विभिन्न अनुसंधानों के निष्कर्षों को भी सम्मिलित करने का यथा संभव प्रयत्न किया गया है।

पुस्तक में प्रत्येक टॉपिक को शीर्षक तथा उपशीर्षक के अंतर्गत विभाजित किया गया है जिससे विद्यार्थी सरलता से अध्ययन कर सकें।

भारतीय समाज और सामाजिक मुद्दे अथवा Indian society & social issue for UPSC in Hindi सामाजिक मुद्दों से संबंधित एक प्रमाणिक पुस्तक है जिसमें भारतीय समाज के मुख्य सामाजिक मुद्दे यथा पिछड़े वर्ग, दलित, जनसंख्या समस्या तथा नियन्त्रण, दहेज घरेलू (पारिवारिक) हिंसा, विवाह विच्छेद, अन्तर-पीढ़ी एवं अन्तःपीढ़ी संघर्ष ,बुजुर्गों (वृद्धों) की समस्या, क्षेत्रीय असमानताएं, विकास से सम्बन्धित विस्थापन , निरक्षरता (अशिक्षा), गरीबी (निर्धनता) बेकारी, जाति एवं लिंग सम्बन्धी विषमता, विषमरसता (असामंजस्य): धार्मिक, नृजातीय तथा क्षेत्रीय पारिस्थितिकीय पतन (अपकर्ष) एवं पर्यावरण प्रदूषण, उपभोक्तावाद,अपराध (बाल-अपराध, श्वेतवसन अपराध), मादक-द्रव्य व्यसन, एड्स, भ्रष्टाचार राष्ट्र-निर्माण के सामाजिक एवं सांस्कृतिक पहलू आदि सम्मिलित किए गए हैं।

Download Our App – Youth Pathshala APP

BUY MORE BOOK – E STORE

Our Publisher – RBD Books

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “भारतीय समाज मुद्दे और सामाजिक मुद्दे (हिंदी में)”

Register now

Get Free Counselling Session with mentor

Open chat
1
Youth Destination IAS . PCS
To get access
- NCERT Classes
- Current Affairs Magazine
- IAS Booklet
- Complete syllabus analysis
- Demo classes
https://online.youthdestination.in/