अंटार्कटिका में आइस शेल्फ (Ice Shelf) टूटकर हुआ अलग

अंटार्कटिका में आइस शेल्फ (Ice Shelf) टूटकर हुआ अलग

हाल ही में बढ़ते तापमान के कारण पूर्वी अंटार्कटिका में आइस : शेल्फ (Ice Shelf) टूटकर अलग हुआ ।

  • पहली बार वैज्ञानिकों ने पूर्वी अंटार्कटिका में कोंगर आइस शेल्फ (Conger Ice Shelf) को टूटते हुए अवलोकित (observe) किया है। यह अवलोकन व्यापक पैमाने पर सैटेलाइट से प्राप्त तस्वीरों के कारण संभव हो सका है।
  • ऐसी घटनाएं बढ़ते तापमान के कारण घटित हो रही हैं। बढ़ते तापमान के कारण उत्तरी और दक्षिणी, दोनों धुवों में औसत तापमान में वृद्धि देखी जा रही है।
  • साथ ही, एक नए शोध में यह उजागर किया गया है कि अंटार्कटिका वर्ष 2000 तक “क्लाइमेट टिपिंग पॉइंट” के करीब पहुंच जाएगा। ऐसी स्थिति में पहुंचने पर अंटार्कटिका का बर्फ तेजी से पिघलने लगेगा।

क्लाइमेट टिपिंग पॉइंट्सः

  • ये वे सीमाएँ हैं जहां से एक छोटा सा परिवर्तन भी पृथ्वी की प्रणाली को अकस्मात और अपरिवर्तनीय बदलाव की ओर धकेल सकता है।
  • वैश्विक स्तर पर कुल 9 क्लाइमेट टिपिंग पॉइंट्स की पहचान की गई है। इनमें एक अंटार्कटिका हिमावरण (Ice Sheet) भी है।

अंटार्कटिका के बारे में:

  • यह विश्व का 5वां सबसे बड़ा महाद्वीप है। अंटार्कटिका में पृथ्वी की कुल हिम की मात्रा का 90% मौजूद है।
  • यहां पृथ्वी पर उपलब्ध ताजे पानी का 70% हिस्सा मौजूद है। अंटार्कटिका, विश्व के पारितंत्र की संधारणीयता के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है।
  • यह वैश्विक ऊष्मा का 62% और मानवीय गतिविधियों द्वारा उत्सर्जित कुल कार्बन डाइऑक्साइड का 40% भाग अवशोषित करता है।
  • इसके अलावा, यहाँ खनिजों (तेल और गैस); समुद्री जीव (फिनफिश, क्रिल, स्क्विड); और स्थानिक जैव विविधता के जीनोमिक संसाधनों के समृद्ध स्रोत मौजूद हैं।
  • अंटार्कटिका हिमावरण के पिघलने से समुद्र के जलस्तर में 60 मीटर से अधिक की वृद्धि हो सकती है।

चिंताजनक स्थिति:  साक्ष्यों के अनुसार, कई प्रणालियाँ टिपिंग पॉइंट्स बनने की ओर बढ़ रही है। पिछले एक दशक में इसकी गति और तीव्र हुई है। साथ ही, इसके दुरगामी प्रभावों (डोमिनो इफेक्ट) की बात कही गई है।

  • अमेजन वर्षावन बार-बार सूखा पड़ना;
  • आर्कटिक हिमावरण हिमावरण के क्षेत्र में कमी;
  • अटलांटिक परिसंचरण इसकी गति 1950 के दशक की तुलना में धीमी हुई है;
  • बोरियल वन वनाग्नि की घटनाओं में वृद्धि और कीटों की प्रजातियों में बदलाव प्रवाल भित्तियाँ व्यापक पैमाने पर कमी;
  • ग्रीनलैंड का हिमावरण हिमावरण में तीव्र गति से हानि हो रही है;
  • पर्माफ्रॉस्ट पिघल रहा है;
  • पश्चिम अंटार्कटिका हिमावरण हिमावरण में तीव्र गति से हानि हो रही है ;
  • विल्क्स बेसिन पूर्वी अंटार्कटिका में तीव्र गति से हिमावरण की हानि हो रही है।

स्रोत द हिन्दू

Download Our App

MORE CURRENT AFFAIRS

Share with Your Friends

Join Our Whatsapp Group For Daily, Weekly, Monthly Current Affairs Compilations

Related Articles

Youth Destination Facilities