Reading Time: 6 minutes

info@youthdestination.in Call- 981133 4434 , 9582225699 , 98113 34451

साक्षात्कार की तैयारी कैसे करे

सिविल सेवा की मुख्य परीक्षा की समाप्ति के बाद सबसे अहम् पड़ाव  साक्षात्कार  का होता हैं । जो लोग मुख्य परीक्षा में सफल हो जाते हैं वे साक्षात्कार को की परीक्षा देते है और उसके लिये पूरे दम-ख़म से साक्षात्कार की तैयारी करते हैं।

साक्षात्कार के महत्त्व को निम्नलिखित आधारों पर सही से समझा जा सकता हैं –

  1. अंक का महत्व
  2. परीक्षा रैंक में निर्धारण
  3. कम मेहनत से अधिक प्राप्त करने का रास्ता
  4. साक्षात्कार के लिये महत्वपूर्ण सुझाव
  5. क्या करे और क्या न करे –

मुख्य परीक्षा में अपनी सफलता के प्रति आश्वस्त  प्रतिभागियों के पास समय समय की कमी होती हैं । और यह आपके व्यक्तित्व का परीक्षण होता हैं इसको सीमित समय में तैयार नही किया जा सकता हैं -इसकी तैयारी आपको प्रारंभिक परीक्षा के साथ शुरु करना आपके लिये सहायक सिद्ध हो सकता हैं –

 और इस प्रकार की लम्बी तैयारी आपको साक्षात्कार बोर्ड के सामने अपने आपको सम्पूर्णता से पेश करने में काफी सहायक सिद्ध हो सकती हैं और जिसके माध्यम से अपनी मानवीय खूबियों-खामियों को और निखारा जा सकता हैं

इसके लिए आपको छोटे छोटे कदम शुरुआत से ही प्रारंभ कर देना  चाहिए । जिससे कि आपकी तैयारी समयबद्ध तरीके से चलती रहे, मेरी सलाह यही है कि आपको साक्षात्कार के लिए अपने पहले दिन से ही लग जाना चाहिए और अपने व्यक्तित्व के विकास के लिये लगातार कार्य करना चाहिए,  क्योंकि बोर्ड के सामने 30-40 मिनट के अंदर आपको आपके केवल व्यक्तित्व के माध्यम से ही परखा जाएगा

अतःइस आर्टिकल के अंतर्गत हम लोग इस चीज पर चर्चा करेंगे किस प्रकार और किन महत्वपूर्ण बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए आप अपने संपूर्ण परीक्षा की एक इंटीग्रेटेड तरीके से तैयार कर सकते हैं  जिसने की आप की प्रारंभिक परीक्षा मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार तीनों एक साथ तैयार होता रहे और आप इस परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन कर सके-

साक्षात्कार का महत्त्व

  1. अंक का महत्व

यूपीएससी का साक्षात्कार 275 अंकों का होता है,  जिसमे 200 से अधिक अंक उच्च स्कोर माना जाता है। और इसके तहत विश्लेषणात्मक क्षमता, पार्श्विक सोच, तार्किक निर्णय लेने आदि शामिल हैं। यह वास्तव में न केवल उम्मीदवार के बौद्धिक गुणों का मूल्यांकन है बल्कि सामाजिक मामलों और वर्तमान मामलों में उनकी रुचि का आकलन करना है , जिसमे

 

अतः साक्षात्कार की तैयारी के लिये सिविल सेवा परीक्षा द्वारा प्रदान किया गए नोटिफिकेशन में साक्षात्कार के सम्बन्ध में दिए गए निर्देश इस प्रकार हैं –

अ) उम्मीदवार  का साक्षात्कार एक बोर्ड द्वारा होगा जिसके सामने उम्मीदवार का बायोडाटा होगा उससे सामान्य रूचि की बातों पर प्रश्न पूछे जायेंगे साक्षात्कार का उद्देश्य यह जानना है की उम्मीदवार लोकसेवा के लिए व्यक्तित्व की दृष्टि से उपयुक्त है या नहीं यह परीक्षा उम्मीदवार की मानसिक क्षमता को जांचने के अभिप्राय से की जाती है मोटे तौर पर इस परीक्षा का प्रयोजन न केवल उसके बौध्दिक गुणों को वरन सामाजिक लक्षणों को और सामाजिक घटनाओं में उसकी रूचि  का भी मुल्यांकन करना है | इसमें उम्मीदवार की मानसिक सतर्कता, आलोचनात्मक ग्रहण शक्ति, स्पष्ट और तर्क संगत प्रतिपादन की शक्ति, संतुलित निर्णय की शक्ति, रूचि की विविधता और गहराई, नेतृत्व और सामाजिक संगठन की योग्यता, बौधिक और नैतिक ईमानदारी की भी जांच की जा सकती है |

आ) साक्षात्कार की प्रणाली क्रॉस-एग्जामिनेशन की नहीं वरन स्वाभाविक वार्तालाप की प्रक्रिया द्वारा उम्मीदवार के मानसिक गुणों का पता लगाने का प्रयत्न किया जाता है | परन्तु, वह वार्तालाप एक विशेष दिशा में एवं एक विशेष प्रयोजन से होता है |

इ) साक्षात्कार उम्मीदवार के सामान्य या विशेष ज्ञान की परीक्षा के लिए नहीं होता क्यूंकि उनकी जांच लिखित प्रश्न पत्रों में पहले ही हो जाती है | उम्मीदवारों से आशा की जाती है की वो ना केवल अपने शैक्षणिक विशेष विषयों में पारंगत हो बल्कि उन घटनाओं पर भी ध्यान दें जो उनके चारों और अपने राज्य या देश के भीतर और बाहर घट रही हैं, तथा आधुनिक विचारधारा और नई-नई खोजों में भी रूचि लें जो की किसी सुशिक्षित युवा में जिज्ञासा पैदा कर सकती है |”

अतः उपरोक्त को पढ़ने के बाद यह निश्चित हो जाता है कि साक्षात्कार का मुख्य अर्थ आपके आंतरिक व्यक्तित्व का सही से निर्धारण करना और उसको समझना है ।  इसलिए आपको अपने आंतरिक व्यक्तित्व के विकास में ज्यादा से ज्यादा ध्यान देने की आवश्यकता है साथ ही साथ आपका बाहरी व्यक्तित्व बहुत हद तक आपके साक्षात्कार में सहायक सिद्ध होता है ।

आवश्यक निर्देश –

  1. प्रमाण पत्रो की फाइल
  • साक्षात्कार के लिए अपनी शैक्षणिक योग्यताओं के सारे सर्टिफिकेट सही से एक फाइल में रखे
  • जाति प्रमाणपत्र (अगर आप अनुसूचित जाति/ जनजाति या अन्य पिछड़ा वर्ग से हैं)
  • अपने नियोक्ता से अनापत्ति प्रमाणपत्र (अगर आप वर्तमान में नौकरी कर रहे हैं) और
  • साक्षात्कार फॉर्म में दिए अन्य निर्दिष्ट प्रमाण पत्र को अपने साथ रखे
  1. वेश-भूषा –

आपका पहनावा औपचारिक एवं गरिमापूर्ण होना चाहिए इसके लिए डार्क ब्लू कलर की पैंट और उजले में महीन सोबर डिजाईन वाली शर्ट पहन सकते हैं ।  बेल्ट और शू फॉर्मल होनी चाहिए ।

  • सबसे महत्त्वपूर्ण बात है की आप अपने साक्षात्कार के दिन के ड्रेस के साथ सहज और विश्वस्त होने चाहिए ।
  • साक्षात्कार के पहले ड्रेस को दो-तीन बार पहने । महिला उम्मीदवारों को साड़ी पहनने को वरीयता ज्यादा देनी चाहिए ।
  • संघ लोक सेवा आयोग के इंटरव्यू में तो यह अपेक्षा की ही जाती है कि महिला उम्मीदवार साड़ी जैसी औपचारिक वेशभूषा में ही उपस्थित हों।
  • इसके बाद भी अगर कोई महिला उम्मीदवार सूट के विकल्प को ही चुने तो उसे इतना ध्यान रखना चाहिये कि सूट का रंग और डिज़ाइन औपचारिक या फॉर्मल हो। यदि कोई महिला उम्मीदवार कमीज़ और ट्राउज़र्स पहनकर इंटरव्यू देना चाहे तो यह विकल्प भी बुरा नहीं है।
  • किसी प्रदेश लोक सेवा आयोग के इंटरव्यू में यह प्रयोग शायद अटपटा सा लगे, किंतु संघ लोक सेवा आयोग के इंटरव्यू में ऐसा प्रयोग किया जा सकता है। साड़ी के रंग और डिज़ाइन का सामान्य नियम सिर्फ इतना है कि वेशभूषा औपचारिक बनी रहे। और साड़ी का रंग चमकीला न हो, उसमें ज़्यादा रंगों की उपस्थिति भी न हो।
  • जहा तक हो सके साड़ी का रंग गहरा नीला, गहरा हरा, हल्का गुलाबी, बादामी, मैरुन या काला ही हो तो अच्छा रहेगा ठंडी के मौसम में महिला उम्मीदवार साड़ी पर ब्लेज़र भी पहन सकती हैं
  • अभिवादन का तात्पर्य समय से है जब आप इंटरव्यू बोर्ड के सामने दरवाजा खोलकर प्रवेश करते हैं , और उस समय छात्रों के मध्य एक बहुत बड़ी उलझन होती है कि वह अपना अभिवादन किस भाषा में प्रस्तुत करें ?
  • इस समय आपको यह ध्यान देने की जरुरत है कि अगर आप हिंदी माध्यम के विद्यार्थी हैं तो हिंदी में अपना अभिवादन कर सकते हैं और यह आपके लिये सबसे अच्छा होता भी हैं अतः अभिवादन की भाषा आपके माध्यम के अनुरूप हो सकती है –
  • अगर आपने मुख्य परीक्षा अग्रेजी में दी है और साक्षात्कार हिंदी में देना चाहे तो दे सकते हैं –

4.बायो-डाटा –  

  • इसको साक्षात्कार कक्ष में ले जाने की जरुरत नहीं होती हैं
  • क्योंकि उनके पास आपका बायो डाटा पहले से होता हैं
  • आप इसको अपने साथ रख सकते हो परन्तु प्रवेश से पहले उसको आप किसी के पास रख सकते हो .

 

 

 

  1. साक्षात्कार की तैयारी के प्रमुख प्रश्न

साक्षात्कार  के कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न इस प्रकार के हो सकते हैं , जो अक्सर हर एक उमीदवार से पूछे जाते हैं

क). आपकी शैक्षिक पृष्ठभूमि एवम आपका सिविल सेवा में वैकल्पिक विषय क्या हैं ? और आपने क्यों लिया हैं ?

ख). आपकी पारिवारिक पृष्ठभूमि क्या हैं ?

ग). आपका गृह राज्य

  • उसका इतिहास
  • उसका भूगोल-
  • राजनीति
  • कला
  • संस्कृति
  • और वर्तमान में रहे प्रमुख चर्चा के विषय

घ). आपका गृह जिला

ङ). अगर आप कोई नौकरी कर रहे हो तो उस नौकरी के बारे में विस्तृत जानकारी चाहिए |

च).अगर आप कही दुसरे राज्य में कार्य कर रहे हैं या वहां से आपने पढाई की है  तो उस राज्य और जिले के बारे में भी महत्वपूर्ण जानकारियां जुटाना जरुरी है.

छ),भारत के इतिहास, भूगोल, वर्तमान, भविष्य, यहाँ की कला-संस्कृति-सभ्यता- धर्म-साहित्य- प्रशासन-राजनीति जैसे मुद्दों पर आपके पास समुचित जानकारी होनी चाहिए |

ज).अंतर्राष्ट्रीय संबध –

झ).आपने सेवाओं की जो प्राथमिकता दी है, उसके स्पष्ट और तर्कपूर्ण उत्तर आपके पास होने चाहिए. और आपके उत्तरों से ऐसा नही लगना चाहिए की आप किसे सर्विस को कम करके आंक रहे हैं .

ञ). राज्यों की प्राथमिकताओं पर भी सवाल हो सकते हैं

ट). बजट के बारे में मुख्य जानकारियां आपके पास होनी चाहिए.

ठ). समसामयिक मुद्दों  जैसे

ड). पाठ्येतर गतिविधियों में अगर आपकी सहभागिता रही है तो उसके बारे में पूरा जानकारी जुटा कर रखे.

ढ). आप सिविल सेवा में क्यूँ आना चाहते हैं , आपको इसमें आने के लिए किससे प्रेरणा मिली -यह काफी प्रचलित सवाल है और इस सवाल का ईमानदार और सटीक उत्तर बोर्ड को आपका मुरीद बना सकता है | घिसे-पिटे उत्तरों से बचे, अपने अनुभव और अपनी विचारों को संजोकर उत्तर दे |

ण). आपने फॉर्म में जो शौक फरमाए हैं(HOBBY) वो आपको शोक/शॉक न दें, इसका ख्याल रखे.  साक्षात्कार में हॉबी एक ऐसा क्षेत्र है जो कभी-कभी आपके सफलता या विफलता का फैसला कर सकता है |

June 2020
M T W T F S S
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930  
नया क्या हैं ?
Archives

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *