विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा “विश्व मलेरिया रिपोर्ट 2021”

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा विश्व मलेरिया रिपोर्ट 2021

हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा “विश्व मलेरिया रिपोर्ट 2021” जारी की गई है ।

यह रिपोर्ट, कोविड-19 वैश्विक महामारी की पृष्ठभूमि में मलेरिया की रोकथाम हेतु देशों द्वारा की गई कार्रवाई का आकलन करती है।

मुख्य निष्कर्ष

  • 85 मलेरिया स्थानिक देशों में, वर्ष 2019 में 227 मिलियन मामलों की तुलना में वर्ष 2020 में मलेरिया के अनुमानित 241 मिलियन मामले दर्ज किए गए।
  • वर्ष 2019 और वर्ष 2020 के मध्य मलेरिया के मामलों में कमी को बनाए रखने में प्रगति दर्ज करने वाला भारत एकमात्र उच्च मलेरिया भार वाला देश था।
  • उप-सहारा अफ्रीका में मलेरिया सर्वाधिक प्रभावी है। वर्ष 2020 में मलेरिया के सभी मामलों का लगभग 95% और मलेरिया से होने वाली मौतों का 96% इसी क्षेत्र से संबंधित था।

मलेरिया की रोकथाम के बारे में

  • “WHO ग्लोबल मलेरिया प्रोग्राम” (GMP) मलेरिया को नियंत्रित करने और समाप्त करने के WHO के वैश्विक प्रयासों के समन्वय के लिए उत्तरदायी है।
  • इसके कार्य मलेरिया के लिए वैश्विक तकनीकी रणनीति (2016-2030) द्वारा निर्देशित हैं। इसे मई 2015 में विश्व स्वास्थ्य सभा द्वारा अपनाया गया था। इसे वर्ष 2021 में अपडेट किया गया है।
  • वैश्विक तकनीकी रणनीति (GTS), वर्ष 2030 तक वैश्विक मलेरिया मामलों और संबंधित मृत्यु दर को से कम 90% तक कम करने का लक्ष्य निर्धारित करती है।

भारत द्वारा उठाए गए कदमों में शामिल हैं

मलेरिया उन्मूलन के लिए राष्ट्रीय रणनीतिक योजना, 2017; मलेरिया सहित वाहक जनित रोगों को नियंत्रित करने के लिए राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन; मलेरिया उन्मूलन अनुसंधान गठबंधन–भारत (मेरा–भारत/MERA-India) आदि।

मलेरिया के बारे में

यह मच्छर जनित एक प्राणघातक रक्त-रोग है, जो प्लाज्मोडियम परजीवी के कारण होता है। यह परजीवी संक्रमित मादा एनाफिलीज़ मच्छरों के काटने से फैलता है।

स्रोत – द हिन्दू

Download Our App

More Current Affairs

Share with Your Friends

Join Our Whatsapp Group For Daily, Weekly, Monthly Current Affairs Compilations

Related Articles

Youth Destination Facilities