Print Friendly, PDF & Email

विश्व आर्थिक मंच ने जारी किया वैश्विक ऊर्जा संक्रमण सूचकांक

विश्व आर्थिक मंच ने जारी किया वैश्विक ऊर्जा संक्रमण सूचकांक

  • हाल ही में विश्व आर्थिक मंच(World Economic Forum- WEF) ने फोस्टरिंग इफेक्टिव एनर्जी ट्रांजिसन रिपोर्ट (Fostering Effective Energy Transition Report) के अंतर्गत वैश्विक ऊर्जा संक्रमण सूचकांक-2021 (Global Energy Transition Index-2021)जारी किया है।
  • विश्व आर्थिक मंच के वैश्विक ऊर्जा संक्रमण सूचकांक में इस वर्ष भारत को 87 वां स्थान प्राप्त हुआ है।
  • इस सूचकांक में कुल 115 देशों को शामिल किया गया था।जिनमें इस वर्ष लगभग 92 देशों ने उर्जा संरक्षण में बेहतर प्रदर्शन किया है। जो एक वैश्विक ऊर्जा संक्रमण की स्थिति में सकारात्मक कदम है।
  • विश्व आर्थिक मंच ने इस वर्ष का वैश्विक ऊर्जा संक्रमण सूचकांकएक आयरिश बहुराष्ट्रीय कंपनी एक्सेंचर (Accenture) के सहयोग से तैयार किया है।
  • मुख्यतः इस रिपोर्ट में ऊर्जा सुरक्षा , देशों की पर्यावरणीय स्थिरता और आर्थिक विकास, जैसे मुख्य तीन आयामों के आधार पर देशों की स्थिति का आकलन किया जाता है।

रिपोर्ट के मुख्य बिंदु

  • इस सूचकांक में पिछले वर्ष की तरह इस बार भी स्वीडन को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है। इसके बाद नॉर्वे को दूसरा और डेनमार्क को तीसरा स्थान प्राप्त हुआ है।
  • इस सूचकांक में शीर्ष10 देश यूरोप के उत्तरी और पश्चिमी भागों से ही हैं।इस सूचकांक मेंभारत के पड़ोसी देश चीन 68वें स्थान पर है।

भारत और चीन पर रिपोर्ट

  • भारत को इस सूचकांक में अधिक प्रदूषण स्तर वाले देशों की सूची में रखा है, क्योंकि कार्बन डाईऑक्साइड (CO2) के उत्सर्जन में भारत अन्य देशों के अपेक्षा अग्रणी है।
  • इस रिपोर्ट के अनुसार, भारत सब्सिडी सुधारों के माध्यम से ऊर्जा बदलाव ला रहा है।इस प्रयास में भारत को काफी सफलता भी हासिल हुई है ,जबकि चीन निवेश और बुनियादी ढांचे के माध्यम से नवीकरण उर्जा वृद्धि पर ध्यान केंद्रित कर रहा है।
  • विदित हो कि भारत और चीन कुल वैश्विक ऊर्जा मांग का एक-तिहाई हिस्सा खर्च करते हैं।

 

विश्व आर्थिक मंच (World Economic Forum)

  • विश्व आर्थिक मंचसार्वजनिक-निजी सहयोग हेतु एक अंतर्राष्ट्रीय संगठन है।विश्व आर्थिक मंच का मुख्यालय जिनेवा में स्थित है।
  • इसकी स्थापना 1971 में यूरोपियन प्रबंधन के नाम से जिनेवा विश्वविद्यालय में कार्यरत प्रोफेसर क्लॉस एम श्वाब (Klaus Schwab) ने की थी।
  • विश्व आर्थिक मंच का उद्देश्य विश्व के प्रमुख व्यावसायिक, राजनीतिज्ञ, शिक्षाविदों, बुद्धिजीवियों एवं अन्य महत्वपूर्ण क्षेत्रों के प्रमुख लोगों को एक मंच प्रदान करना है।

विश्व आर्थिक मंच द्वारा जारी की जाने वाली अन्य रिपोर्ट:

  • ग्लोबल रिस्क रिपोर्ट (Global Risks Report)
  • फोस्टरिंग इफेक्टिव एनर्जी ट्रांजिसन रिपोर्ट (Fostering Effective Energy Transition Report)
  • वैश्विक सामाजिक गतिशीलता सूचकांक (Social Mobility Index)
  • वैश्विक लैंगिक अंतराल रिपोर्ट (Global Gender Gap Report)
  • वैश्विक प्रतिस्पर्द्धात्मकता सूचकांक (Global Competitiveness Report)

स्रोत – द हिन्दू

Download Our App

MORE CURRENT AFFAIRS

Open chat
1
Youth Destination IAS . PCS
To get access
- NCERT Classes
- Current Affairs Magazine
- IAS Booklet
- Complete syllabus analysis
- Demo classes
https://online.youthdestination.in/