विदेश व्यापार नीति 2015-20

विदेश व्यापार नीति 2015-20

हाल ही में सरकार ने “विदेश व्यापार नीति, 2015-20” (Foreign Trade Policy, 2015-20) को 30 सितंबर 2022 तक बढ़ाने का फैसला लिया है ।

  • विदित हो कि, वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के तहत कार्यरत विदेश व्यापार महानिदेशालय (DoFT), नयी विदेश व्यापार नीति तैयार कर रहा है।
  • मौजूदा FTP, 2015-20 की अवधि 31 मार्च 2022 को समाप्त होने वाली थी। इससे पहले कोरोना वायरस के प्रकोप और लॉकडाउन के कारण इस नीति की अवधि बढ़ा दी गयी थी।
  • विदेश व्यापार नीति आर्थिक वृद्धि को बढ़ावा देने और रोजगार पैदा करने के उद्देश्य से निर्यात बढ़ाने हेतु दिशा-निर्देश प्रदान करती है।
  • FTP 2015-20 ने निर्यात बढ़ाने, रोजगार पैदा करने और वैल्यू एडिशन बढ़ाने के लिए एक रूपरेखा प्रदान की है।

FTP 2015-20 के तहत दो नई योजनाएँ घोषित की गयी थीं

  1. मचेंडाइज एक्सपोर्ट्स फ्रॉम इंडिया स्कीम (MEIS): यह विशेष बाजारों में विशेष वस्तुओं के निर्यात के लिए घोषित की गयी थी।
  2. सर्विस एक्सपोर्ट फ्रॉम इंडिया स्कीम (SEIS): इसकी घोषणा अधिसूचित सेवाओं (notified services) के निर्यात को बढ़ाने के लिए की गयी थी।

नई विदेश व्यापार नीति के लिए अलग-अलग केन्द्रित क्षेत्र होंगे। यह नीति- डिजिटल सूचना से युक्त होगी। यह विश्व स्तर पर स्वीकार्य नीतिगत मानदंडों के अनुरूप होगी। साथ ही ऐसे बाजार, जहाँ अब तक ठीक से पैठ नहीं बन पाई है, (जैसे- अफ्रीका), वहाँ संभावनाओं को तलासेगी। इसके अतिरिक्त प्रतिस्पर्धात्मकता और बाजार पहुंच (विशेषकर सेवा क्षेत्र में) पर ध्यान देगी ।

व्यापार नीति के सामने चुनौतियां

  • निर्यात को बढ़ावा देने वाली योजनाओं को विश्व व्यापार संगठन के मानदंडों के अनुरूप युक्तिसंगत बनाने के लिए बहुपक्षीय दबाव बढ़ रहा है।
  • विदेश व्यापार से संबंधित तीन नियामक संस्थाओं DGFT, कस्टम और GST काउंसिल के बीच प्रभावी समन्वय सुनिश्चित करना भी बड़ी चुनौती है।
  • इंडियन ट्रेड क्लासिफिकेशन नॉमेनक्लेचर में भी विसंगति (discrepancy) है। भारत में यह आठ अंकों वाला है, जबकि अधिकांश देश पहले से ही 10-अंकीय टैरिफ नॉमेनक्लेचर का पालन करते हैं।

स्रोतद हिंदू

Download Our App

MORE CURRENT AFFAIRS

Share with Your Friends

Join Our Whatsapp Group For Daily, Weekly, Monthly Current Affairs Compilations

Related Articles

Youth Destination Facilities