Print Friendly, PDF & Email

राष्ट्रीय स्टार्टअप सलाहकार परिषद (National Startup Advisory Council- NSAC) का आयोजन संपन्न

राष्ट्रीय स्टार्टअप सलाहकार परिषद (National Startup Advisory Council- NSAC) का आयोजन संपन्न

केंद्रीय रेल, वाणिज्य एवं उद्योग, उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री श्री पीयूष गोयल ने 15 अप्रैल को  राष्ट्रीय स्टार्टअप सलाहकार परिषद (एनएसएसी) की प्रथम बैठक की अध्यक्षता की है ।

इस अवसर पर केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने  सफल उद्यमियों से स्टार्टअप के मार्गदर्शक हेतु आह्वान किया कि वे अपने ज्ञान, अनुभव और विचारों को साझा करें।

विशेषज्ञों का कहना है कि भारत के पास विश्व का सबसे बड़ा और सबसे नवाचार प्रकृति के स्टार्टअप इकोसिस्टम बनने की क्षमता हैइसलिए स्टार्टअप्स को आत्मनिर्भर भारत के नए विजेता के रूप में देखा जा रहा है।

विदित हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को आत्मनिर्भर और युवाओं में उद्यमशीलता को बढ़ावा देने के लिए 15 अगस्त 2015, को नई दिल्ली में लाल किले से स्टार्टअप इंडिया  (Startup India)अभियान की शुरुआत की थी ।

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि भारत में स्टार्टअप इंडिया कार्यक्रम ने विगत5 वर्षों में उद्यमशीलता की भावना को उभारा है। भारत सरकार ने ‘स्टार्टअप इंडिया’ विज़न के तहत हर स्तर पर स्टार्टअप को बढ़ावा दिया और हमेशा स्टार्टअप इकोसिस्टम की प्रगति के लिए सहायक रही है ।

राष्ट्रीय स्टार्टअप सलाहकार परिषद

  • उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग (Department for Promotion of Industry and Internal Trade -DPIIT) ने सरकार को भारत में नवाचार और स्टार्टअप्स के अनुकूल एक बेहतर माहौल विकसित करने के लिए उठाए जाने वाले कार्यों पर सलाह देने के लिए 21 जनवरी, 2020 को स्टार्टअप इंडिया के तहत एक ‘राष्ट्रीय स्टार्टअप सलाहकार परिषद’ का गठन किया था।
  • इसका उद्देश्य देश में सतत आर्थिक विकास को बढ़ावा देने और बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर पैदा करने के सरकार के लक्ष्य को प्रभावी बनाना है।
  • राष्ट्रीय स्टार्टअप सलाहकार परिषद की अध्यक्षता वाणिज्य और उद्योग द्वारा की जाती है। इसके अतिरिक्त, इस परिषद में आधिकारिक और गैर-आधिकारिक दोनों प्रकार के सदस्य शामिल हैं।जिनका कार्यकाल कार्यकाल दो साल तक होगा।
  • यह परिषद् बौद्धिक संपदा अधिकार तैयार करने, नवाचार की संस्कृति को प्रोत्साहन देने, स्टार्टअप्स में निवेश के लिए घरेलू लागत को प्रोत्साहन देनेतथा भारतीय स्टार्टअप्स के लिए वैश्विक बाजारों तक पहुंच सुनिश्चित कराने संबंधी उपायों पर सुझाव देगी ।

भारत में स्टार्टअप इकोसिस्टम हेतु सुझाव

  • भारत में “स्टार्टअप इंडिया” आंदोलन राष्ट्रीय भागीदारी और राष्ट्रीय चेतना का प्रतीक बन चुका है। हालाँकि विशेषज्ञों का कहना है कि छात्रों को नवाचार के लिए प्रोत्साहित करने के लिए स्कूल स्तर पर उद्यमिताको प्रोत्साहित करने की आवश्यकता है।
  • सफल उद्यमियों को अपने ज्ञान, अनुभव और विचारों को छात्रों और युवाओं के साथ साझा करने के लिए आगे आना चाहिए और छात्रों और युवाओं का मार्गदर्शन भी करना चाहिए ।
  • ग्रामीण भारत से लेकर शहरों तक में लोगों के पास कई अनोखे विचार हैं उन विचारों को एक मंच पर लाने के लिए एक मंच प्रदान करना चाहिए ।
  • प्रधानमंत्री द्वारा जनवरी,2021 में लॉन्च किये गए ‘स्टार्टअप इंडिया: द वे अहेड’ के लक्ष्यों को साकार करना सभी की सामूहिक जिम्मेदारी होनी चाहिए। इससे ‘स्टार्टअप इंडिया’ को भी वैश्विक मंच मिलेगा और भारत में स्टार्टअप इकोसिस्टम का निर्माण होगा ।

स्त्रोत – पीआईबी

Download Our App

MORE CURRENT AFFAIRS

Open chat
1
Youth Destination IAS . PCS
To get access
- NCERT Classes
- Current Affairs Magazine
- IAS Booklet
- Complete syllabus analysis
- Demo classes
https://online.youthdestination.in/