भारत-जापान विदेश मंत्रियों की 15वीं रणनीतिक वार्ता

भारत-जापान विदेश मंत्रियों की 15वीं रणनीतिक वार्ता

हाल ही में भारत-जापान विदेश मंत्रियों की 15वीं रणनीतिक वार्ता आयोजित की गई है

वार्ता में जापान ने 2022-27 की अवधि में भारत में 5 ट्रिलियन जापानी येन निवेश करने का लक्ष्य निर्धारित किया है।

निवेश के संभावित क्षेत्रक हैं: महत्वपूर्ण और उभरती प्रौद्योगिकियां, लचीली आपूर्ति श्रृंखलाएं आदि ।

वर्ष 2023 को भारत-जापान पर्यटन आदान-प्रदान वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है। इसकी थीम है: ‘कनेक्टिंग हिमालय टू माउंट फूजी ।

एक स्वतंत्र,खुला और समृद्ध हिंद-प्रशांत क्षेत्र सुनिश्चित करने पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा, जो समावेशी और नियम-आधारित होगा ।

भारत-जापान संबंध

आर्थिक संबंध : वर्ष 2011 में भारत-जापान व्यापक आर्थिक साझेदारी समझौता (CEPA) लागू हुआ था। इसमें वस्तुओं, सेवाओं आदि में व्यापार शामिल है।

वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय व्यापार 20.57 बिलियन अमेरिकी डॉलर का रहा था।

रक्षा संबंध :  भारत और जापान की रक्षा सेनाएं निम्नलिखित द्विपक्षीय अभ्यास आयोजित करती रहती हैं-

  • जिमेक्स / JIMEX (नौसैनिक अभ्यास)
  • मालाबार अभ्यास (नौसैनिक अभ्यास)
  • वीर गार्जियन और शिन्यू ‘मैत्री’ (वायु सेना अभ्यास)
  • धर्म गार्जियन ( थल सेना अभ्यास )

बहुपक्षीय मंच सहयोग: दोनों देश क्वाड, G–20, G-4 और इंटरनेशनल थर्मोन्यूक्लियर एक्सपेरिमेंटल रिएक्टर (ITER) आदि जैसे संगठनों के सदस्य हैं।

अंतरिक्ष के क्षेत्र में सहयोग:  इसरो और जाक्सा (JAXA ) एक्स-रे एस्ट्रोनॉमी, उपग्रह नेविगेशन, चंद्र अन्वेषण तथा एशिया प्रशांत क्षेत्रीय अंतरिक्ष एजेंसी फोरम (APRSAF) में सक्रिय सहयोगी हैं।

स्रोत – पी.आई.बी.

Download Our App

More Current Affairs

Share with Your Friends

Join Our Whatsapp Group For Daily, Weekly, Monthly Current Affairs Compilations

Related Articles

Youth Destination Facilities