UPSC Prelims Exam - यूपीएससी प्रारंभिक परीक्षा की तैयारी कैसे करें

यूथ डेस्टिनेशन में आपका स्वागत हैं । संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी), भारत का एक संवैधानिक निकाय है जो भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) और भारतीय पुलिस सेवा (IPS) जैसी अखिल भारतीय सेवाओं तथा भारतीय विदेश सेवा (IFS), भारतीय राजस्व सेवा (IRS), भारतीय रेलवे यातायात सेवा (IRTS) एवं भारतीय कंपनी कानून सेवा (ICLS) आदि जैसी प्रतिष्ठित सेवाओं में अभ्यर्थियों का चयन करने के लिये प्रत्येक वर्ष सिविल सेवा परीक्षा आयोजित करता है।

तीन चरणों में आयोजित सिविल सेवा परीक्षा का प्रथम चरण प्रारंभिक परीक्षा कहलाता है। यह संभवतः बाकी के दो चरणों में सबसे आसान होता हैं, लेकिन परीक्षा में शामिल उम्मीदवारों की संख्या एवं स्पर्धा के आधार पर देखा जाये तो यह सबसे कठिन भी हैं । अतः इसमें सफलता के लिये उम्मीदवार को  योजनाबद्ध और समर्पित तरीके से तैयारी करनी होती है। 

Join Our Whatsapp Group For Daily, Weekly, Monthly Current Affairs Compilation & Daily Mains Answer Writing Test & Current Affairs MCQ

How to Prepare UPSC Prelims Exam (Hindi)

इस  चरण में सफलता हेतु निम्नलिखित बिन्दुओ पर ध्यान देंने की जरुरत हैं

  1. परीक्षा का प्रारूप और पाठ्यक्रम
  2. सफलता का अनुपात
  3. सीमित पाठ्य सामग्री (बुक लिस्ट )
  4. पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र का अध्ययन
  5. करंट अफेयर्स की तैयारी
  6. CSAT की बेहतर रणनीति
  7. टेस्ट सीरीज
  8. कोचिंग
  9. स्टडी नोट्स 

परीक्षा का प्रारूप और पाठ्यक्रम

यह परीक्षा तीन चरणों में आयोजित की जाती है,जो क्रमश: हैं-

  • प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Examination)
  • मुख्य परीक्षा (Main Examination)
  • साक्षात्कार (Interview)

नोट- इस आर्टिकल में हम केवल प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Examination) के बारे में चर्चा करेगे –

प्रारंभिक परीक्षा

सिविल सेवा परीक्षा का प्रथम चरण प्रारंभिक परीक्षा कहलाता है। इसकी प्रकृति पूर्णत: वस्तुनिष्ठ एवं बहुविकल्पीय होती है । इसके अंतर्गत प्रत्येक प्रश्न के लिये दिये गए चार संभावित विकल्पों (a, b, c और d) में से एक सही विकल्प का चयन करना होता है।

नई परीक्षा प्रणाली के अनुसार वर्तमान में प्रारंभिक परीक्षा में दो प्रश्नपत्र होते है । पहला प्रश्नपत्र सामान्य अध्ययन’ (100 प्रश्न, 200 अंक) का होता है, जबकि दूसरा ‘सिविल सेवा अभिवृत्ति परीक्षा’ (Civil Services Aptitude Test) या सीसैट’ (80 प्रश्न, 200 अंक) का होता है और यह क्वालीफाइंग पेपर के रूप में है अर्थात सीसैट प्रश्नपत्र में 33% अंक प्राप्त करने आवश्यक हैं।

 सबसे पहले हम लोग कुछ गलत धारणाओ को देखेगे क्योंकि यूपीएससी प्रारंभिक परीक्षा के संबंध में अक्सर यह गलत धारणा होती हैं कि इसके लिये बहुत सारे तथ्यों और आंकड़ों को याद करने की जरुरत होती है और इन्ही तथ्यों के आधार पर ही प्रारंभिक परीक्षा में आपका चयन होता हैं , परंन्तु यह विल्कुल भी सही नहीं हैं क्योंकि यूपीएससी के परीक्षा पाठ्यक्रम में परिवर्तन को ध्यान में रखते हुये समझें तो यह पता चलता है कि इस परीक्षा में आपका मूल्यांकन विभिन्न मानकों पर किया जाता हैं न कि केवल तथ्यों पर ।

प्रारंभिक परीक्षा में तथ्य के साथ साथ UPSC आपके अंदर आपकी विश्लेषणात्मक क्षमता, अवधारणात्मक समझ और आपके द्वारा प्रश्नों को हल करने की गति के आधार पर करता हैं, क्योंकि आपको 100 प्रश्नों का उत्तर केवल 120 मिनटों में देना होता हैं  और उत्तर पुस्तिका को भी भरना होता हैं।

प्रारंभिक परीक्षा का पाठ्यक्रम

सामान्य अध्ययन (प्रश्नपत्र -1)

  • राष्ट्रीय और अंतर्रराष्ट्रीय महत्व की सामयिक घटनाएं. (Current events of national and international importance)
  • भारत का इतिहास और भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन. (History of India and Indian National Movement)
  • भारत एवं विश्व भूगोल – भारत एवं विश्व का प्राकृतिक, सामाजिक, आर्थिक भूगोल (Indian and World Geography – Physical, Social, Economic Geography of India and the World)
  • भारतीय राज्यतन्त्र और शासन – संविधान, राजनैतिक प्रणाली, पंचायती राज, लोक नीति, अधिकारों संबंधी मुद्दे, आदि (Indian Polity and Governance – Constitution, Political System, Panchayati Raj, Public Policy, Rights Issues etc.)
  • आर्थिक और सामाजिक विकास – सतत वकास, गरीबी, समावेशन, जनसांख्यिकी, सामाजिक क्षेत्र में की गई पहल आदि। (Economic and Social Development, Sustainable Development-Poverty, Inclusion, Demographics, Social Sector initiatives etc.)
  • पर्यावरणीय पारिस्थितिकी जैव-विविधता और मौसम परिवर्तन संबंधी सामान्य मुद्दे, जिनके लिए विषयगत विशेषज्ञता आवश्यक नहीं है। (General issues on Environmental Ecologh2y, Bio-diversity and Climate Change – that do not require subject specialization)
  • सामान्य विज्ञान (General Science)

सिविल सर्विसेस एप्टीट्यूड टेस्ट (CSAT) (प्रश्नपत्र -2)

  • बोधगम्यता (Comprehension)
  • संचार कौशल सहित अंतर – वैयक्तिक कौशल (Interpersonal skills including communication skills)
  • तार्किक कौशल एवं विश्लेषणात्मक क्षमता (Logical reasoning and analytical ability)
  • निर्णय लेना और समस्या समाधान (Decision-making and problem-solving)
  • सामान्य मानसिक योग्यता (General mental ability)
  • आधारभूत संख्यनन (संख्याएं और उनके संबंध, विस्तार क्रम आदि) (दसवीं कक्षा का स्तर), Basic numeracy (numbers and their relations, orders of magnitude, etc.) (Class X level)
  • आंकड़ों का निर्वचन (चार्ट, ग्राफ, तालिका, आंकड़ों की पर्याप्तता आदि – दसवीं कक्षा का स्तर)
  • Data interpretation (charts, graphs, tables, data sufficiency etc. (Class X level)

सफलता का अनुपात

पिछले 10 वर्ष के सफलता के अनुपात को देखा जाये तो निम्नलिखित तथ्य सामने आते है

Success ratio in UPSC IAS Examination

उपरोक्त से यह निष्कर्ष निकलता है कि परीक्षा के कुल आवेदन और सफलता के अनुपात में काफी अन्तर देखने को मिलता हैं –

अतः इसी के आधार पर इस परीक्षा की स्पर्धा का अन्दाजा लगया जा सकता हैं – How to Prepare UPSC Prelims

सीमित पाठ्य सामग्री (बुक लिस्ट )

प्रारंभिक परीक्षा में चयनित होने के लिए आवश्यक है की  सीमित संसाधनो का अधिक से अधिक दोहन किया जाये ।

मतलब साफ है कि सीमित किताबो को ज्यादा से ज्यादा बार पढ़ा जाये और उसकी notes बनाई जाये –

Ancient History

  • आरएस शर्मा (पुरानी एनसीईआरटी)
  • क्लास notes
  • सेल्फ मेड नोट

World Geography

  • (एनसीईआरटी- 6 से 12 )
  • विश्व भूगोल के लिये ( पुरानी 6/7/8) एनसीईआरटी
  • G. c. LEAUNG बुक
  • क्लास notes
  • प्रिंटेड / सेल्फ नोट

Medieval History

  • सतीश चंद्र (पुरानी एनसीईआरटी)
  • सेल्फ एंड क्लास notes

Economy

  • भारत लोग और अर्थव्यवस्था (एनसीईआरटी)
  • रमेश सिंह की भारतीय अर्थव्यवस्था
  • कोचिंग बुक
  • क्लास notes
  • सेल्फ नोट
  • मृणाल विडियो

Modern History

  • स्पेक्ट्रम पब्लिकेशन के ‘A brief history of modern India’ के साथ– साथ सुजाता मेनन की ‘Concise history of modern India’

Polity

  • लक्ष्मीकांत की भारतीय राजनीति
  • डीडी बसु की भारत के संविधान का परिचय

Indian Culture

  • स्पेक्ट्रम पब्लिकेशन की ‘facets of Indian culture’
  • नितिन सिंघानिया द्वारा कला और संस्कृति
  • सांस्कृतिक संसाधन एवं प्रशिक्षण केंद्र की वेबसाइट

Current Affairs

  • द हिंदू, इंडियन एक्सप्रेस
  • पीआईबी
  • ऑनलाइन सोर्सेज

Physical Geography

  • सविन्दर सिंह

Science & Tech

  • शंकर आईएएस के नोट्स
  • इसरो की वेबसाइट
  • उपेन्द्र अनमोल सर बुक

Indian Geography

  • भारत: भौतिक पर्यावरण (एनसीईआरटी)

Environment & Ecology

  • समाचार पत्रों के माध्यम से जलवायु परिवर्तन पर हालिया घटनाएं
  • एनआईओएस अध्ययन सामग्री

पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र के अध्ययन का महत्व

सिविल सेवा में सफलता हेतु पिछले वर्ष के प्रश्न आपकी निम्नलिखित तरीको से मदद कर सकते हैं –

  • परीक्षा के पैटर्न को समझने में
  • प्रश्न प्रारूप  की समझ विकसित करने में
  • ट्रैंडिंग टॉपिक्स की जानकारी देने में
  • सॉल्व्ड पेपर्स को करने से मिलते जुलते प्रश्नों को हल करने में मदद मिलेगी
  • अभ्यास के लिये
  • तैयारी का आकलन करने में काफी सहायक सिद्ध होगा

करंट अफेयर्स की तैयारी

प्रतियोगी परीक्षा के प्रश्न पत्र में करंट अफेयर्स का महत्व बहुत अधिक बढ़ गया है, और इसका सबसे ज्यादा फायदा यह हैं कि इसकी तैयारी को आप कम समय में कर सकते हैं और अधिक से अधिक अंक प्राप्त कर सकते हैं ।

 परन्तु करेंट अफेयर्स की बेहतर तैयारी के लिये सबसे बड़ी बाधा हिंदी माध्यम के लिये यह हैं कि इसको कैसे तैयार किया जाय ?

करंट अफेयर्स की तैयारी के लिये आप निम्नलिखित तरीको का पालन कर सकते हैं –

न्यूज़ पेपर के माध्यम से

करंट अफेयर्स की तैयारी के लिए न्यूज़ पेपर एक बेहतर माध्यम है, इसके लिये आप निम्नलिखित समाचार पत्रों को पढ़ सकते हैं

  1. The Hindu
  2. Indian Express
  3. हिंदी माध्यम के लोग दैनिक जागरण

टीवी के माध्यम से 

राज्यसभा टीवी, लोकसभा टीवी और डीडी न्यूज के माध्यम से करेंट अफेयर्स की तैयारी कर सकते हैं

इन्टरनेट के माध्यम से

  • डेली करंट अफेयर्स से सम्बंधित जानकारी प्राप्त करने के लिये किसी एक वेबसाइट को फॉलो कर सकते हैं
  • पीआईबी (Press Information Bureau – PIB)
  • PRS INDIA
  • विभिन्न मंत्रालयों की वेबसाइट एवं
  • अन्य महत्वपूर्ण वेबसाइट

सोशल मीडिया के माध्यम से

फेसबुक पर ऐसे कई ग्रुप्स, पेज और कम्युनिटी हैं जो प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वालों के लिए विभिन्न क्षेत्रो से सम्बंधित जानकारी प्रदान करते है उनका उपयोग करके आप अच्छा कर सकते हैं ।

न्यूज मोबाइल एप्लीकेशंस के माध्यम से

CSAT की बेहतर रणनीति

  • इस प्रश्नपत्र में आपको क्वालिफाईंग मार्क्स 33 प्रतिशत प्राप्त करना होता हैं । अगर अंको को देखा जाये तो आपको केवल 66 अंक प्राप्त करने हैं और अगर आपकी बोधगम्यता (Comprehension) अच्छी हैं तो आप 50 अंक केवल बोधगम्यता से प्राप्त कर सकते हैं । अब आपको केवल 16 अंक की और जरूरत होगी जिसके लिये आप गणित के प्रश्नों को देख सकते हैं ।
  • CSAT के अभ्यास के लिये पिछले साल के यूपीएससी सी-सैट प्रश्न पत्रों को हल करने का प्रयास करना सहायक सिद्ध हो सकता हैं। इस पेपर के लिये यदि आप एक पूर्वनियोजित और मजबूत तैयारी रखेंगे तो आप मिनिमम क्वालीफाइंग अंक प्राप्त करने में सफल हो जायेगे ।

टेस्ट सीरीज

परीक्षा में सफलता सुनिश्चित करने और अपने पाठ्यक्रम को कम समय में तैयार करने के लिये , आप परीक्षा से पहले कम से कम 30 टेस्ट सीरीज को हल करे । यह आपके लिये बहुत उपयोगी सिद्ध होगी ।

इसको करने से आपको निम्नलिखित फायदा होगा –

  1. पाठ्यक्रम का रिवीजन
  2. महत्वपूर्ण टॉपिक्स पर पकड़ बनाने में सहायक
  3. कमजोर बिन्दुओ की जानकारी मिलेगी
  4. समय के अंदर प्रश्नपत्र को समाप्त करने की आदत विकसित होगी

कोचिंग

कोचिंग के माध्यम से आप बेहतर मार्गदर्शन प्राप्त कर कम समय में अच्छी तैयारी कर सकते हैं और आपको एक वातावरण मिलेगा जिससे आप अपने प्रदर्शन को और अच्छा कर सकते हैं ।

नोट्स 

परीक्षा की तैयारी के दौरान बनाई गई आपकी क्लास notes या आपकी notes आपके लिये बहुत सहायक सिद्ध हो सकती हैं ।

Download App

Get Youth Pathshala App For Free

Register now

Get Free Counselling Session with mentor

Open chat
1
Youth Destination IAS . PCS
To get access
- NCERT Classes
- Current Affairs Magazine
- IAS Booklet
- Complete syllabus analysis
- Demo classes
https://online.youthdestination.in/