प्रश्न – कार्य संस्कृति से आप क्या समझते हैं? संस्कृति तथा कार्य संस्कृति किस प्रकार एक-दूसरे से संबंधित हैं? चर्चा करें।

Print Friendly, PDF & Email

Upload Your Answer Down Below 

प्रश्न – कार्य संस्कृति से आप क्या समझते हैं? संस्कृति तथा कार्य संस्कृति किस प्रकार एक-दूसरे से संबंधित हैं? चर्चा करें। – 20 June 2021

उत्तर

        कार्य संस्कृति वह वातावरण है जिसे हम अपने कर्मचारियों के लिए बनाते हैं। यह उनकी कार्य संतुष्टि, संबंधों और प्रगति को निर्धारित करने में एक शक्तिशाली भूमिका निभाता है। यह  संगठन के नेतृत्व, मूल्यों, परंपराओं, विश्वासों, बातचीत, व्यवहार और दृष्टिकोण का मिश्रण है जो कार्यस्थल के भावनात्मक और संबंधपरक वातावरण में योगदान देता है। ये कारक आम तौर पर अनिर्दिष्ट और अलिखित नियम हैं जो सहकर्मियों के बीच संबंध बनाने में मदद करते हैं।

कार्य संस्कृति संगठन के विभिन्न पक्षों में अभिव्यक्त होती है जैसे संगठन का उद्देश्य क्या है? अपनी सामाजिक भूमिका के प्रति उसकी राय क्या है? कर्मचारियों पर कैसी आचरण संहिताएँ तथा नियमावलियाँ लागू होती है, कौन-से प्रतीकों का प्रयोग संगठन करता है तथा उसके कर्मचारियों की सामान्य आदतें किस प्रकार की है, इत्यादि।

 

संस्कृति तथा कार्य संस्कृति में संबंध:

किसी संगठन की कार्य संस्कृति काफी हद तक उस समाज की मूल संस्कृति से प्रभावित होती है। इसे निम्नलिखित उदाहरणों द्वारा समझा जा सकता है:

  • जैसी सत्ता संरचना संस्कृति में होती है वैसी ही कार्य संस्कृति में भी दिखती है। उदाहरण- जिन देशों में पितृसत्तावादी ढाँचा है वहाँ कि कार्य संस्कृति में शक्ति का अंतराल भी साफ दिखाई देता है, जबकि जिन समाजों में परिवार भीतर से लोकतांत्रिक हो गया है वहाँ कार्य संस्कृति में भी समानता तथा स्वतंत्रता का भाव दिखेगा।
  • यदि समाज में सांस्कृतिक वैविध्य है और वैविध्य के प्रति सम्मान का भाव या लचीलापन है तो कार्य संस्कृति में भी विभिन्न वर्गों का बेहतर अनुपात होगा तथा समावेशी विकास होगा।
  • यदि संस्कृति में व्यक्तिवाद अधिक हावी है तो कर्मचारी अपने संगठन के प्रति आर्थिक व भावनात्मक दृष्टि से कम निर्भर होंगे तथा उसकी व्यक्तिगत पहचान को ही महत्त्व दिया जाएगा सामाजिक पहचान को नहीं। दूसरी ओर यदि संस्कृति के सामूहिक ढाँचों का अधिक महत्त्व है तो व्यक्ति अपने संगठन पर अधिक निर्भर होगा तथा उसकी सामूहिक पहचान से अधिक महत्त्व मिलेगा।

संस्कृतिक सहजता पर अधिक बल दिया जाता है या औपचारिकता पर इस संदर्भ में भी जैसी प्राथमिकताएँ संस्कृति में है वैसी ही कार्यालय के भीतर भी दिखेगी।

Open chat
1
Youth Destination IAS . PCS
To get access
- NCERT Classes
- Current Affairs Magazine
- IAS Booklet
- Complete syllabus analysis
- Demo classes
https://online.youthdestination.in/