प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) Pradhan Mantri Awas Yojana (URBAN)

प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) Pradhan Mantri Awas Yojana (URBAN)

प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) Pradhan Mantri Awas Yojana (URBAN)

‘प्रधानमंत्री आवास योजना – शहरी’ (PMAY-U) के 6 वर्ष सफलता पूर्वक संपन्न होने पर ‘आवास एवं शहरी कार्य मंत्रालय’ द्वारा हाल ही में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। ज्ञातव्य हो कि इस योजना को 25 जून, 2015 को आरम्भ किया गया था।

योजना के बारे में:

  • ‘आवास एवं शहरी गरीबी उपशमन मंत्रालय’ (Ministry of Housing and Urban Poverty Alleviation – MoHUPA) द्वारा चलाई जाने वाली, ‘प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी)’ को मिशन मोड में शुरू किया गया था। जिसके तहत इसमें ,राष्ट्र की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे होने पर वर्ष 2022 तक ‘सभी के लिए आवास’ की परिकल्पना की गयी है।
  • प्रधानमंत्री आवास योजना मिशन का उद्देश्य, निम्नलिखित कार्यक्रम-घटकों के माध्यम से झुग्गी-झोपड़ी में रहने वालों सहित शहरी गरीबों की आवास आवश्यकता को पूरा करना है ।
  • संसाधन के रूप में भूमि का उपयोग करते हुए निजी विकासकर्ताओं (developers) की भागीदारी से झुग्गी-झोपड़ी में रहने वालों निवासियों का ‘स्लम पुनर्वास’ करना ।
  • ‘क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी’ के द्वारा दुर्बल वर्गों के लिए किफायती आवासों को बढ़ावा देना।
  • सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों के साथ मिलकर किफायती आवासों का निर्माण करना ।
  • लाभार्थी द्वारा बनवाए जाने वाले निजी आवास के निर्माण एवं विस्तार के लिए सब्सिडी प्रदान करना ।
  • ‘क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी’ घटक को ‘केंद्रीय क्षेत्र की योजना’ के रूप में लागू किया जाएगा, जबकि अन्य 3 घटकों को केंद्र प्रायोजित योजना (CSS) के रूप में लागू किया जाएगा।

मकानों का स्वामित्व:

  • इस योजना के तहत निर्मित आवास को परिवार की महिला मुखिया सदस्य के नाम या संयुक्त नाम से आवंटित किया जाएगा।
  • इस योजना के तहत सभी घरों में शौचालय तथा पेयजल की सुविधा, और बिजली की आपूर्ति उपलब्ध होगी।
  • इस योजना में, विकलांग व्यक्तियों, अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति / अन्य पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यकों और ट्रांसजेंडर को वरीयता दी जाती है।

उपलब्धियां:

प्रधान मंत्री आवास योजना (शहरी) द्वारा अभी तक, 1.12 करोड़ घरों को स्वीकृति प्रदान की जा चुकी है, जिनमें से 82.5 लाख घरों के आधार तैयार किए जा चुके हैं, और 48 लाख से ज्यादा घरों का निर्माण पूरा हो चुका है।

स्रोत:पीआईबी

MORE CURRENT AFFAIRS

 

[catlist]

 

Share with Your Friends

Join Our Whatsapp Group For Daily, Weekly, Monthly Current Affairs Compilations

Related Articles

Youth Destination Facilities