चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (Chief of Defence Staff) – CDS

हाल ही में,थिएटरकमांड से संबंधित मुद्दों के निपटारे हेतु ‘चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ’ की अध्यक्षता में एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की जाएगी। इस बैठक में ‘थिएटरकमांड’ की संरचना से संबंधित सभी विषयों पर मतभेदों को दूर करने का प्रयास किया जाएगा।

पृष्ठभूमि:

  • सेना, वायु सेना और नौसेना इन सभी सशस्त्र बलों की युद्धक संरचना को ‘थिएटरकमांड’ में पुनर्गठित किया जा रहा है। इसका उद्देश्य तीनों बलों के संसाधनों को किसी एक कमांडर के अधीन करना है। यह कमांडर अपनी ‘थिएटरकमांड’ के तहत सभी कार्यों के लिए जिम्मेदार होगा।
  • विदित हो कि वर्तमान में, तीनों सशस्त्र बलों के सत्रहकमांड कार्यरत हैं, जिनमें थल सेना और वायु सेना, प्रत्येक के अधीन 7कमांड हैं और नौसेना के अधीन 3कमांड हैं।

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) के बारे में:

  • वर्ष 1999 में गठित कारगिल समीक्षा समिति ने , ‘चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ’ (CDS),के पद की अनुसंसा प्रदान की थी , ये सरकार के एकल-बिंदु सैन्य सलाहकार (single-point military adviser) होंगे।इनके लिए एक अलग‘चार सितारा जनरल’ (Four-star General) के पद का सृजनकिया गया।
  • चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ ‘CDS कमेटी’ के स्थायी अध्यक्ष के रूप में कार्य करते हैं। इस कमेटी में तीनोसशत्र- बालों के प्रमुख सदस्य के रूप में सम्मिलित होते हैं।
  • ‘CDS’ का मुख्य कार्य, भारतीय सेना के तीनोसशत्र-बलो के बीच अधिक से अधिक परिचालन तालमेल को बढ़ावा देना और अंतर-सेवा संघर्ष को कम करना होगा।

आवश्यक शर्तेँ:

  • CDS पद पर नियुक्त व्यक्ति, सेवानिवृत्ति के पश्चात किसी भी सरकारी पद को धारण करने का पात्र नहीं होगा।
  • CDS के पद से सेवानिवृत्ति के पाँच वर्षों बाद तक बिना पूर्व अनुमोदन के किसी भी निजी रोज़गार की अनुमति भी नहीं होगी।

भूमिकाएं और कार्य:

  • चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ, सरकार को ‘सिंगल-पॉइंट सैन्य सलाह’ देगा, तथा सशस्त्र बलों के बीच योजना बनाने, खरीद करने और रसद के संबंध में तालमेल स्थापित करेगा।
  • यह थिएटरकमांड के गठन के माध्यम से स्थल-वायु-समुद्र तीनो क्षेत्र की कार्यवाहियों का समेकन सुनिश्चित करेगा।
  • चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ, प्रधानमंत्री के नेतृत्व में ‘परमाणु कमान प्राधिकरण’ के सैन्य सलाहकार के रूप में भी कार्य करेगा, साथ ही अंतरिक्ष और साइबर स्पेस जैसे नए युद्ध क्षेत्रों को संभालने के लिए त्रि-सेवा संगठनों की कमान का नेतृत्व भी करेगा।
  • वह, रक्षा मंत्री का प्रधान सैन्य सलाहकार और चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी (Chiefs of Staff Committee – COSC) का स्थायी अध्यक्ष के रूप में भी कार्य करेगा।विदित हो कि CDS, ‘रक्षा अधिग्रहण परिषद’ और ‘रक्षा योजना समिति’ के सदस्य भी होगा।

स्रोत – द हिन्दू

Download Our App

More Current Affairs

Share with Your Friends

Join Our Whatsapp Group For Daily, Weekly, Monthly Current Affairs Compilations

Related Articles

Youth Destination Facilities