ग्रामीण स्कूलों के लिये स्मार्ट क्लासेज़

Print Friendly, PDF & Email

ग्रामीण स्कूलों के लिये स्मार्ट क्लासेज़

केंद्र सरकार द्वारा संचालित ग्रामीण स्कूलों को स्मार्ट क्लासेज़ से जोड़ने की योजना के प्रस्ताव को रेलटेल ने शिक्षा मंत्रालय को सौंप दिया है।

हिन्दी करंट अफेयर्स, करंट अफेयर्स, 4 jan 2021, ग्रामीण स्कूलों के लिये स्मार्ट क्लासेज़, सामाजिक न्याय, रेलटेल

रेलटेल (RailTel):

  • रेलटेल कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड एक “मिनी रत्न (श्रेणी-I)” सार्वजनिक उपक्रम है।यह एक आईसीटीयानी सूचना एवं संचार प्रदाता है तथा देश के सबसे बड़े न्यूट्रल दूरसंचार इंफ्रास्ट्रक्चर प्रदाताओं में से एक है।रेलटेल के पास पूरे भारत में रेलवे ट्रैक के साथ ऑप्टिक फाइबर नेटवर्क है।
  • रेलटेल का आप्टिकल फाइबर केबलनेटवर्क भारत के सभी महत्त्वपूर्ण शहरों एवं ग्रामीण क्षेत्रों को कवर करता है।इसे भारत सरकार की विभिन्न मिशन-मोड परियोजनाओं जैसे- राष्ट्रीय ज्ञान नेटवर्क, भारत नेट और उत्तर-पूर्व भारत मेंयूनिवर्सल सर्विस ऑब्लिगेशन फंड द्वारा वित्तपोषित ऑप्टिकल फाइबर आधारित कनेक्टिविटी परियोजना के कार्यान्वयन हेतु चुना गया है।

प्रस्ताव के बारे में:

  • यह योजना ठोस ऑप्टिकल फाइबर केबल नेटवर्क का उपयोग करते हुए, एंड-टू-एंड ई-लर्निंग समाधान प्रस्तुत करती है, जो भारतीय रेलवे दूरसंचार संचालन की रीढ़ की है।
  • योजना का मुख्य उद्देश्य शिक्षा के क्षेत्र में ई-लर्निंग के माध्यम से अधिक-से अधिक-लाभ प्राप्त करना है, खासतौर से ऐसे समय में जब महामारी ने शिक्षकों और छात्रों को आभासी प्लेटफॉर्मका प्रयोग करने तथा शिक्षण कार्य हेतु आईटी-सक्षम इंटरेक्टिव साधनों को अपनाने के लिये प्रेरित किया है।
  • यह प्रस्ताव दूरस्थ सरकारी स्कूलों में उच्च गति वाले ब्रॉडबैंड की पहुंच, बिजली उपलब्ध कराने और सीखने, अर्थात् ‘इंटरनेट आफ थिंग्स’ के वातावरण से संबंधित है।
  • केबल नेटवर्क को रेलवे पटरियों के साथ बिछाया गया है और जहाँ तक इसकी पहुंच का संबंध है तो इसे कहीं पर भी भारत के ग्रामीण स्कूलों में पहुँचाया जा सकता है, इसमें वे दूरस्थ क्षेत्र भी शामिल हैं, जहाँ विश्वसनीय इंटरनेट सुविधा उपलब्ध नहीं है।
  • इसका असर स्कूलों में नामांकित होने वाले उन लगभग 5 लाख छात्रों पर पड़ेगा, जो स्कूल मुख्य रूप से ग्रामीण भारत में मेधावी छात्रों हेतु केंद्र सरकार द्वारा चलाए जाते हैं।
  • रेलटेल ने पहले ही केंद्र के राष्ट्रीय ज्ञान नेटवर्क कार्यक्रम के तहत 723 उच्च शिक्षण संस्थानों को इस प्रकार की कनेक्टिविटी प्रदान की है, जिसमें प्रति सेकंड 10 गीगाबाइट तक की ब्रॉडबैंड स्पीड है।

स्रोत: इंडियन एक्सप्रेस

Open chat
1
Youth Destination IAS . PCS
To get access
- NCERT Classes
- Current Affairs Magazine
- IAS Booklet
- Complete syllabus analysis
- Demo classes
https://online.youthdestination.in/