गुरु नानक की 554वीं जयंती

गुरु नानक जयंती

चर्चा में क्यों?

हाल ही में पूरे भारत में गुरु नानक की 554वीं जयंती मनाई गई है।

योगदान: 

  • 16वीं शताब्दी में अंतर-धार्मिक संवाद की शुरुआत की और अपने समय के अधिकांश धार्मिक संप्रदायों के साथ बातचीत की।
  • रचनाएँ लिखीं जो पांचवें सिख गुरु, गुरु अर्जन (1563-1606) द्वारा संकलित आदि ग्रंथ में शामिल थीं।
  • 10वें सिख गुरु – गुरु गोबिंद सिंह (1666-1708) द्वारा इसमें शामिल किए जाने के बाद इसे गुरु ग्रंथ साहिब के नाम से जाना जाने लगा।
  • भक्ति के ‘निर्गुण’ (निराकार परमात्मा की भक्ति और पूजा) रूप की वकालत की।
  • अस्वीकृत बलिदान, अनुष्ठान स्नान, छवि पूजा, तपस्या।

Guru Nanak Jayanti 554th birth anniversary

गुरु नानक की प्रमुख शिक्षाएँ और समकालीन समय में उनकी प्रासंगिकता

  • धार्मिक सहिष्णुता: धार्मिक विविधता से चिह्नित युग में, गुरु नानक का एक दैवीय शक्ति के तहत सभी लोगों की एकता पर जोर आपसी सम्मान और सद्भाव को प्रोत्साहित करता है।
  • यह शिक्षा धार्मिक सहिष्णुता और समझ को बढ़ावा देती है, जो आज की वैश्वीकृत और विविध दुनिया में विशेष रूप से प्रासंगिक है।
  • समानता और सामाजिक न्याय: गुरु नानक ने सामाजिक समानता पर वकालत की, जाति-आधारित भेदभाव को निरस्त कर दिया और इस विचार को बढ़ावा दिया कि सभी व्यक्ति समान हैं।
  • यह शिक्षा समसामयिक संदर्भ में प्रासंगिक बनी हुई है जहां सामाजिक न्याय, भेदभाव और असमानता के मुद्दे बने हुए हैं।
  • मानवता की सेवा: “सेवा” या निस्वार्थ सेवा की अवधारणा सिख धर्म का केंद्र है। गुरु नानक ने अपने अनुयायियों को मानवता के प्रति दयालुता और सेवा के कार्यों में संलग्न होने के लिए प्रोत्साहित किया।
  • यह शिक्षण आधुनिक दुनिया में बनी गरीबी, असमानता और मानवीय संकटों की चुनौतियों का समाधान करने में प्रासंगिक है।
  • उन्होंने सामूहिक पाठ से जुड़ी सामूहिक पूजा (संगत) के लिए नियम स्थापित किए।
  • ईमानदार आजीविका: गुरु नानक ने कड़ी मेहनत और नैतिक तरीकों से ईमानदार आजीविका कमाने के महत्व पर जोर दिया।
  • समकालीन दुनिया में, जहां भ्रष्टाचार, बेईमानी और अनैतिक प्रथाओं के मुद्दे प्रचलित हैं, गुरु नानक की शिक्षाएं व्यक्तियों को अपने पेशेवर और व्यक्तिगत जीवन में ईमानदारी बनाए रखने के लिए प्रोत्साहित करती हैं।

स्रोत – द हिंदू

Download Our App

More Current Affairs

Share with Your Friends

Join Our Whatsapp Group For Daily, Weekly, Monthly Current Affairs Compilations

Related Articles

Youth Destination Facilities