एशियाई विकास बैंक (Asian Development Bank -ADB) के गवर्नरों की बैठक

एशियाई विकास बैंक (Asian Development Bank -ADB) के गवर्नरों की बैठक

एशियाई विकास बैंक (Asian Development Bank -ADB) के गवर्नरों की बैठक

  • हाल ही में ‘एशियाई विकास बैंक’ की वार्षिक बैठक संपन्न हुई है। इस बैठक में एशियाई विकास बैंक की भारत की गवर्नर श्रीमती निर्मलासीतारमणऔर अन्य देशों केएशियाई विकास बैंक के गवर्नरों ने साथ मिलकर “लचीले भविष्य के लिए सहयोग” (Cooperation for a Resilient Future) विषय पर चर्चा की ।
  • भारत ने कोविड एवं ग़ैर-कोविड संबंधी परियोजनाओं के लिए समय से वित्तीय सहायता देने के लिए एशियाई विकास बैंक की सराहना की है ।

बैठक के मुख्य बिंदु:

  • एशियाई विकास बैंक (ADB)की वार्षिक बैठक में भारतीय वित्तमंत्री ने कहा कि, कोविद -19 महामारी के वर्तमान युग मेंकोरोनावैक्सीन पर कोईराष्ट्रवाद नहीं होना चाहिए। उन्होंने वैश्विक समुदाय को चेतावनी दी कि,कोरोनावैक्सीन पर राष्ट्रवाद, पूरी दुनिया को खतरनाक दिशा में ले जाएगा।
  • इसके साथ ही उन्होंने कहा कि,विकसित देशों को कोरोनावैक्सीन के उत्पादन के लिए आवश्यक तकनीक को साझा करना चाहिए, और इसके साथ जुड़े महत्वपूर्ण उपकरणों और कच्चे माल की निर्बाध आवा-जाही सुनिश्चित करनी चाहिए।
  • आपको विदित हो कि हाल ही में कोरोना के वैक्सीन बनाने वाली कई भारतीय कंपनियों को वैक्सीन के उत्पादन में समस्याओं का सामना करना पड़ा था, क्योंकि यूरोप और अमेरिका ने इसके कच्चे माल के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था। इस तरह के प्रतिबंध को ‘राष्ट्र प्रथम नीति’ या ‘राष्ट्रवादी’ के तहत लगाया गया था।
  • साथ ही भारत ने कोविद -19 महामारी के संदर्भ में डब्ल्यूटीओ के बौद्धिक संपदा अधिकारों से संबंधित व्यापार संबंधी पहलुओं (ट्रिप्स) पर गौर करने की आवश्यकता पर भी जोर दिया।
  • कोविद -19 महामारी से संबंधित मुद्दों के अलावा, उन्होंने सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (MSME) का भी उल्लेख किया। वित्त मंत्री ने कहा कि एमएसएमई भारत की अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं। यही कारण है कि कोविद -19 महामारी के दौरान उनकी मदद करने के लिए भारत सरकार ने 3 लाख रुपये की ऋण गारंटी के रूप में वित्तीय सहायता प्रदान की है।

एशियाई विकास बैंक

  • यह एक क्षेत्रीय विकास बैंक है।इसे संयुक्त राष्ट्र प्रेक्षक का आधिकारिक दर्जा प्राप्त है।19 दिसंबर 1966 कोएशियाई देशों के आर्थिक विकास के सुगमीकरण के लिए इसकी स्थापना की गयी थी।इसका मुख्यालय – मनीला, फिलीपींस में है ।
  • वर्तमान में एडीबीमें 68 सदस्य हैं, जिनमें से 49 एशिया-प्रशांत क्षेत्र के हैं।
  • एशियाई विकास बैंक को विश्व बैंक की तरह स्थापित किया गया है। इसमें विश्व बैंक के समान मताधिकार का निर्धारण बैंक की अधिकृत पूंजी में उस राष्ट्र के अंश के आधार पर किया जाता है।
  • वर्तमान में जापान और संयुक्त राज्य अमेरिका (दोनों देशों में प्रत्येक के पास कुल शेयरों का 6%), पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना (6.4%), भारत (6.3%), और ऑस्ट्रेलिया (5.8%)एडीबीके पांच सबसे बड़े शेयरधारक हैं।

एडीबीके कार्य:

  • एशियाई विकास बैंक, एशिया और प्रशांत क्षेत्र में समावेशी आर्थिक विकास, पर्यावरणीय रूप से संवहनीय विकास और क्षेत्रीय एकीकरण के माध्यम से गरीबी को कम करने के लिए समर्पित है।

ट्रिप्स (Trips) के बारे में

यह बौद्धिक संपदा अधिकार के व्यापार हेतु बना एक अंतरराष्ट्रीय समझौता है। विश्व व्यापार संगठन के सभी देश  इस समझौते शामिल हैं।यहएक बाध्यकारी समझौता है, जो 1 जनवरी 1995 से लागू हुआ था।

निम्नलिखित सात प्रकार की बौद्धिक संपत्ति अधिकारट्रिप्स में शामिल हैं-

  • प्रतिलिपि प्राप्त करने तथा उससे सम्बन्धित अधिकार (Copyright And Related Rights)
  • ट्रेडमार्क (Trade Mark)
  • भौगोलिक संकेतक (Geographical Indication)
  • औद्योगिक डिज़ाइन (Industrial Design)
  • पेटेंट (Patents)
  • इन्टीग्रेटेडसर्किट की डिज़ाईन
  • अप्रकाशित सूचना का संरक्षण या ट्रेडसीक्रेट (Trade Secret)

स्रोत – द हिन्दू

Download Our App

MORE CURRENT AFFAIRS

 

[catlist]

Share with Your Friends

Join Our Whatsapp Group For Daily, Weekly, Monthly Current Affairs Compilations

Related Articles

Youth Destination Facilities