Print Friendly, PDF & Email

इज़राइल के मेरोन में लाग बी’ओमर (Jewish festival) त्यौहार पर भगदड़

इज़राइल के मेरोन में लाग बी’ओमर (Jewish festival) त्यौहार पर भगदड़

  • हाल ही में इज़राइल के मेरोनमें लाग बी’ओमर(Jewish festival) त्यौहार के अवसर पर भगदड़मचने से 44 से अधिक लोगों की मौत हो गई है, औरकरीब 50 लोग घायल भी हो गए हैं।
  • माउंटमेरोंनमें इस कार्यक्रम के दौरान कुछ लोग सीढ़ियों से फिसल गए। जिसके कारण भगदड़ मच गई और बाहर निकलने की कोशिश में लोग आपस में कुचले गए।
  • ये सभी लोग बी’ओमर (Jewish festival) मानानेके लिए एक प्रतिष्ठितमकबरेशिमोन बार योचाई (Shimon Bar Yochai) पर इकट्ठा हुए थे।
  • लाग बी’ओमर एक वार्षिक यहूदी त्योहार (Jewish festival) है। इसे हिब्रूकलेंडरके इयारमाह में मनाया जाता है। यह त्यौहार ओमर के तीसरे तीसरे दिन मनाया जाता है।
  • यहूदी समुदाय के लोग हर साल लाग बी’ओमर त्योहार मनाने के लिए मेरोनपहुंचते हैं। इस त्योहार में लोग आग जलाकर आग के चारों ओर दुआ और प्रार्थना करते हैं।

लाग बी’ओमर (Lag B’Omer)

  • लाग बी’ओमरका दिन यहूदियों के लिए महत्वपूर्ण होता है, क्योंकि ओमर के 49 दिनों में, केवल लाग बी’ओमर पर ही उत्सव मनाया जाता है। यहूदी लोग लाग बी’ओमर पर शादियों का कार्यक्रम निश्चित करते हैं। 30 साल की उम्र तक पहुंचने वाले युवा लड़कों को उनके पहले बाल कटवाने के लिए यहां (मेरून) लाया जाता है।

हिब्रू या यहूदी कैलेंडर

  • हिब्रूकैलेंडर मुख्य रूप से यहूदी धर्मों के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला एक कैलेंडर है। इसराइल मेंयह धार्मिक उद्देश्यों के लिए प्रयोग किया जाता है।

लाग बी’ओमर द्वारा स्मरणित दो घटनाएं क्या हैं?

  • लाग बी’ओमरयहूदी इतिहास की दो ऐतिहासिक घटनाओं को याद करता है। वे रब्बीशिमोन बार योचाईकी मृत्यु और अकीवा बेन योसेफकी 24,000 छात्रों की पुण्यतिथि है। दरअसल, प्लेग से इन छात्रों की मौत हो गई थी। अकीवा बेन योसेफ एक और रब्बी है, जो शिमोन बार के समय में ही रहते थे। योचाई ने ही लाग बी’ओमर के दौरान योसेफ के 24,000 छात्रों की पुण्यतिथि मनाने का निर्देश दिया था।

रब्बी क्या है ?

  • रब्बी एक यहूदी शिक्षक या विद्वान है। वह मुख्य रूप से यहूदी कानून सिखाता है। उन्हें आम तौर पर मिश्रिक ऋषि (Mishnaic sage) कहा जाता है।

मिश्नाह (Mishnah)

  • मिश्नाह यहूदी मौखिकपरंपराओं का लिखित संग्रह है। इसे ओरलटोराभी कहा जाता है।मिश्नाहयहूदियों की शुरुआती रचनाओं में से एक है। यह तीसरी शताब्दी में लिखा गया था।

स्रोत –इंडियन एक्सप्रेस

Download Our App

MORE CURRENT AFFAIRS

 

Open chat
1
Youth Destination IAS . PCS
To get access
- NCERT Classes
- Current Affairs Magazine
- IAS Booklet
- Complete syllabus analysis
- Demo classes
https://online.youthdestination.in/