इंटरनेशनल सीबेड अथॉरिटी और पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय ने एक्सप्लोरेशन एक्सटेंशन अनुबंध पर हस्ताक्षर किए

इंटरनेशनल सीबेड अथॉरिटी और पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय ने एक्सप्लोरेशन एक्सटेंशन अनुबंध पर हस्ताक्षर किए

हाल ही में इंटरनेशनल सीबेड अथॉरिटी (ISA) और पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय ने PMN (पॉलीमेटेलिक नोड्यूल्स/Polymetallic Nodules) एक्सप्लोरेशन विस्तार अनुबंध का आदान-प्रदान किया है ।

इंटरनेशनल सीबेड अथॉरिटी, जिसका मुख्यालय जमैका में है, ने आधिकारिक तौर पर भारत को “पायनियर निवेशक” के रूप में नामित किया है।

इस अनुबंध पर शुरुआत में 25 मार्च 2002 को 15 साल की अवधि के लिए हस्ताक्षर किए गए थे जिसे बाद में प्राधिकरण द्वारा 2017 और 2022 के दौरान 5 साल की अवधि के लिए दो बार बढ़ाया गया था।

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय अपने नोडल संस्थान राष्ट्रीय महासागर प्रौद्योगिकी संस्थान (NIOT) और अन्य राष्ट्रीय संस्थानों के माध्यम से सर्वेक्षण और अन्वेषण, पर्यावरणीय प्रभाव आकलन, प्रौद्योगिकी विकास (खनन), और प्रौद्योगिकी विकास (निष्कर्षण धातुकर्म) जैसे घटकों को कवर करते हुए PMN एक्सप्लोरेशन कार्यक्रम आयोजित कर रहा है।

कार्यक्रम का उद्देश्य टेस्ट माइनिंग साइट (TMS) पर पायलट माइनिंग को प्रदर्शित करने के लिए प्रारंभिक कार्य को पूरा करना है।

गौरतलब है कि यूएन इंटरनेशनल सीड बेड अथॉरिटी (UN International Sea Bed Authority) ने पॉलीमेटेलिक नोड्यूल्स (polymetallic nodules: PMN) के खनन हेतु भारत को मध्य हिंद महासागर बेसिन (Central Indian Ocean Basin: CIOB) ) में 1,50,000 वर्ग किलोमीटर आवंटित किया है।

इन धातुओं का अनुमानित मूल्य लगभग 110 बिलियन अमेरिकी डॉलर है। पॉलीमेटेलिक सल्फाइड में सोने और चांदी सहित दुर्लभ पृथ्वी खनिजों के होने की संभावना है। संयुक्त राज्य अमेरिका, फ्रांस, जापान, रूस और चीन समान तकनीक रखने वाले प्रमुख देश हैं।

अंतर्राष्ट्रीय समुद्री प्राधिकरण (ISA)

इंटरनेशनल सीबेड अथॉरिटी (ISA) एक स्वायत्त अंतरराष्ट्रीय संगठन है जिसकी स्थापना 1982 के संयुक्त राष्ट्र कन्वेंशन ऑन द लॉ ऑफ सी (UNCLOS) और 1994 के कन्वेंशन के तहत समुद्र के कानून पर संयुक्त राष्ट्र कन्वेंशन के भाग XI के कार्यान्वयन से संबंधित है।

इंटरनेशनल सीबेड् अथॉरिटी (ISA) में 167 सदस्य देश और यूरोपीय संघ शामिल हैं। संयुक्त राष्ट्र कन्वेंशन ऑन द लॉ ऑफ सी (UNCLOS)  के सभी पक्षकार ISA के सदस्य हैं।

ISA को एक ऐसे संगठन के रूप में मैंडेट प्राप्त है जिसके माध्यम से UNCLOS के पक्षकार देश अंतर्राष्ट्रीय समुद्री क्षेत्र में खनिज संबंधी सभी गतिविधियों को व्यवस्थित और नियंत्रित करेंगे। अंतर्राष्ट्रीय समुद्री क्षेत्र को “एरिया” के रूप में भी जाना जाता है।

अंतरराष्ट्रीय समुद्री क्षेत्र – वह हिस्सा जो ISA के अधिकार क्षेत्र में आता है – राष्ट्रीय अधिकार क्षेत्र की सीमा से परे समुद्री तल और महासागरीय तल और उसकी उपमृदा है।

अंतरराष्ट्रीय समुद्री क्षेत्र दुनिया के महासागरों के कुल क्षेत्रफल का लगभग 50 प्रतिशत प्रतिनिधित्व करता है।

पॉलीमेटैलिक नोड्यूल्स

पॉलीमेटेलिक नोड्यूल्स, जिन्हें मैंगनीज नोड्यूल्स भी कहा जाता है, एक कोर के चारों ओर लोहे और मैंगनीज हाइड्रॉक्साइड्स की संकेंद्रित परतों से बने रॉक कंस्ट्रक्शन हैं।

पॉलीमेटेलिक नोड्यूल में मुख्य रूप से अवक्षेपित आयरन ऑक्सीहाइड्रॉक्साइड और मैंगनीज ऑक्साइड होते हैं, जिन पर निकेल, कोबाल्ट, कॉपर, टाइटेनियम और रेयर अर्थ एलिमेंट्स जैसी धातुएं सोर्ब होती हैं।

स्रोत – पी.आई.बी.

Download Our App

More Current Affairs

Share with Your Friends

Join Our Whatsapp Group For Daily, Weekly, Monthly Current Affairs Compilations

Related Articles

Youth Destination Facilities