आर्थिक अपराधों की निगरानी

आर्थिक अपराधों की निगरानी

हाल ही में भारत G–20 के भ्रष्टाचार-रोधी कार्य समूह (G-20 Anti-Corruption Working Group- ACWG) की पहली बैठक संपन्न हुई इसमें चार ‘उच्च-स्तरीय सिद्धांतों (HLP) का प्रस्ताव प्रस्तुत किये गए है।

ये चार उच्च-स्तरीय सिद्धांत (HLP) निम्नलिखित हैं:

  • आर्थिक अपराधों के खिलाफ कार्रवाई के लिए सूचना साझाकरण प्रक्रिया में सुधार करना:
  • अन्य घरेलू कानून प्रवर्तन एजेंसियों के साथ कर सूचना साझा करने के लिए त्वरित कार्य तंत्र तैयार करने पर विचार किया जाएगा।
  • वर्तमान ‘पारस्परिक कानूनी सहायता फ्रेमवर्क’ में सुधार किया जाएगा।
  • आर्थिक गतिविधियों के नए और उभरते क्षेत्रों में सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए सिद्धांतों एवं मानकों का विकास किया जाएगा।
  • परिसंपत्ति वसूली तंत्र को मजबूत बनाना :
  • भगौड़े अपराधियों द्वारा चुराई गई या अन्य देशों में छिपाई गई या स्थानांतरित की गई आर्थिक परिसंपत्तियों से जुड़े मामलों से निपटा जाएगा।
  • इसका लक्ष्य परिसंपत्ति की खोज और पहचान प्रणालियों में सुधार करना है।
  • अवैध परिसंपत्तियों पर समय रहते अंकुश लगाने के लिए तंत्र विकसित किया जाएगा।
  • परिसंपत्ति वसूली फ्रेमवर्क्स को मजबूत करने के लिए उपायों का मानकीकरण किया जाएगा ।
  • ओपन-सोर्स सूचना और परिसंपत्ति वसूली नेटवर्क्स को प्रोत्साहित किया जाएगा।
  • आर्थिक अपराधों के खिलाफ कार्रवाई में कानून प्रवर्तन में सहयोग को मजबूत करना :
  • इसमें परिचालनात्मक आवश्यकताओं के लिए सूचना साझा करने का प्रस्ताव किया गया है।
  • प्रोटोकॉल आधारित सुरक्षित संचार माध्यमों पर उचित फ्रेमवर्क / नोडल एजेंसी के माध्यम से सूचना साझा की जाएगी।
  • भ्रष्टाचार नियंत्रण और रोकथाम में शामिल विशेष प्राधिकरणों के बीच सत्यनिष्ठा को बढ़ावा देना :
  • इसके तहत आचार नियमों, हित संघर्ष नियमों और परिसंपत्ति प्रकटीकरण प्रणालियों पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा।

आर्थिक अपराध क्या है?

  • आर्थिक अपराध, आपराधिक गतिविधियों की एक अलग श्रेणी को कहते हैं ।
  • इनमें नशीले पदार्थों की तस्करी, जाली मुद्रा और मूल्यवान प्रतिभूतियां, वित्तीय घोटाले, धोखाधड़ी, मनी लॉन्ड्रिग, हवाला लेन-देन आदि शामिल हैं।
  • ये अपराध अर्थव्यवस्था के साथ-साथ देश की सुरक्षा को भी प्रभावित करते हैं।

G-20 भ्रष्टाचार निरोधी कार्यसमूह (G-20Anti-Corruption Working Group-ACWG):

  • ‘G-20 भ्रष्टाचार निरोधी कार्यसमूह’ की स्थापना वर्ष 2010 में G-20 देशों के ‘टोरंटो शिखर सम्मेलन’ (Toronto Summit) के दौरान की गई थी।
  • इस कार्यसमूह का प्रमुख उद्देश्य भ्रष्टाचार निवारण के अंतर्राष्ट्रीय प्रयासों में G-20 देशों द्वारा दिये गए व्यावहारिक और मूल्यवान योगदान के संदर्भ में व्यापक सिफारिशें करना है।
  • ACWG ने G-20 सदस्य देशों द्वारा किये गए सामूहिक और राष्ट्रीय कार्यों के समन्वय के माध्यम से समूह के भ्रष्टाचार विरोधी प्रयासों का नेतृत्व किया है।
  • ACWG भ्रष्टाचार विरोधी गतिविधियों के लिये विश्व बैंक समूह (World Bank Group), आर्थिक सहयोग तथा विकास संगठन (Organisation for Economic Co-operation and Development- OECD), अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund) और वित्तीय कार्रवाई कार्य बल (Financial Action Task Force-FATF) जैसी संस्थाओं के साथ मिलकर कार्य करता है।

स्रोत – G20.org

Download Our App

More Current Affairs

Share with Your Friends

Join Our Whatsapp Group For Daily, Weekly, Monthly Current Affairs Compilations

Related Articles

Youth Destination Facilities